जानिए सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई में किसने क्या कहा?

जानिए सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई में किसने क्या कहा?

पश्चिम बंगाल के शारदा चिटफंड घोटाले की जांच कर रही सीबीआई ने राज्य की ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट दरवाजा खटखटाया है. केंद्रीय जांच एजेंसी का आरोप है कि राज्य की ममता सरकार इस मामले की जांच को प्रभावित करने का काम कर रही है और आरोपी अधिकारियों को बचा रही है. सीबीआई ने कहा है कि कोलकाता पुलिस के कमिश्नर राजीव कुमार को बचाने के लिए राज्य सरकार ने सीबीआई ऑफिस को पश्चिम बंगाल में सीज कर दिया है. सीबीआई ने कोर्ट में कहा कि राज्य सरकार की पुलिस ने सीबीआई के अधिकारियों को अपनी गिरफ्त में ले लिया. 

इस पूरे मामले पर सोमवार को सीबीआई की तरफ से सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता पेश हुए. उनके और सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के बीच क्या संवाद हुआ आपको बताते हैं.

सॉलिसीटर जनरलः  राज्य सरकार द्वारा सीबीआई कार्यालय को पश्चिम बंगाल में सीज कर लिया गया था.

चीफ जस्टिसः अब क्या स्थिति है ?

सॉलिसीटर जनरलः अब वो मुक्त है. हमारी सीबीआई टीम को भी राज्य पुलिस ने अपनी गिरफ्त में ले लिया था.

चीफ जस्टिसः क्या वो अभी भी गिरफ्त में हैं?

सॉलिसीटर जनरलः उन्हें रात में कई घंटों तक हिरासत में रखने के बाद छोड़ा गया. राज्य सरकार शारदा घोटाले के सारे सबूत नष्ट कर देगी. कोर्ट को इस मामले में दखल देना चाहिए.

चीफ जस्टिसः अगर पश्चिम बंगाल राज्य सरकार ऐसा करती है तो उन्हें भारी खामियाजा भुगतना पड़ेगा.

सॉलिसीटर जनरलः राज्य सरकार ने सीबीआई के कार्य मे बाधा डालकर अदालत के आदेशों की अवमानना की है. हम उक्त मामले को लेकर वक अवमानना याचिका भी दायर करने जा रहे हैं. कोर्ट को इस मामले को देखना चाहिए. जिस तरह से कल राज्य पुलिस ने सीबीआई मुख्यालय को अपने कब्जे में लिया, उससे साफ जाहिर होता है कि वो मामले के सबूतों को नष्ट कर रहे हैं.

चीफ जस्टिसः पहले आप सबूत तो दीजिये कि कोलकाता पुलिस अधिकारी को से दस्तावेज नष्ट कर रहे हैं. हम कल इस मामले में सुनवाई करेंगे.

इसी बीच CJI ने CBI की ओर से पेश  सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से कहा है- अगर सीबीआई सबूत देती है कि पुलिस कमिश्नर या कोई और अधिकारी  इस मामले की  जांच से जुड़े सबूत मिटा रहा है। तो  हम ऐसी सख्त कार्रवाई करेंगे कि उन्हें ऐसा करने का खेद होगा.

उधर शारदा चिटफंड घोटाले में सीबीआई के कोलकाता पुलिस कमिश्‍नर राजीव कुमार से पूछताछ करने की कोशिश को लेकर उपजा विवाद सोमवार को संसद में भी गूंजा. इस पर हंगामे के चलते राज्‍यसभा की कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक स्‍थगित कर दी गई है. वहीं लोकसभा भी 12 बजे तक स्‍थगित कर दी गई है. वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी का संविधान बचाओ धरना रविवार रात 9 बजे से कोलकाता में जारी है.  उन्‍हें अन्‍य विपक्षी दलों का पूरा समर्थन मिल रहा है.

एनडीए की सहयोगी शिवसेना ने कहा कि पश्चिम बंगाल जैसे बड़े राज्य की सीएम का धरने पर बैठना गंभीर मामला है. उन्होंने कहा कि क्या यह सीबीआई बनाम ममता बनर्जी है या फिर ममता बनर्जी बनाम बीजेपी, ये तो हमें जल्द ही पता चल जाएगा. अगर सीबीआई का दुरुपयोग हो रहा है तो यह राष्ट्र की गरिमा और केंद्रीय एजेंसी की प्रतिष्ठा का मामला है.

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि ऐसी घटनाएं सिर्फ पश्चिम बंगाल में नहीं हो रही है, बल्कि देश के कई राज्यों से ऐसी खबरें आ रही है. चुनाव नजदीक आते ही बीजेपी और केंद्र सरकार सीबीआई का दुरुपयोग कर रही है. केवल मैं ही नहीं, समाजवादी पार्टी ही नहीं, बल्कि सभी राजनीतिक दल ऐसा कह रहे हैं.

अखिलेश यादव ने आगे कहा, ‘पहले सीबीआई आपस में ही उलझी हुई थी, केंद्र को सीबीआई निदेशक से डर लग रहा था. अब वह सीबीआई से सबको डराना चाहते है. बताइये संस्थाओं का दुरुपयोग कौन कर रहा है?  अगर किसी ने संस्थाओं का राजनीतिकरण किया है वह बीजेपी है.’

You Might Also Like