चारदीवारी न छत, यहां परीक्षा देंगे यूपी बोर्ड के छात्र…

जनता इंटर कॉलेज भारतगंज को साढ़े आठ सौ छात्रों का परीक्षा केंद्र बनाया गया है, लेकिन इस कॉलेज के कई कमरों में टिन शेड भी नहीं हैं। कमरे जर्जर हैं और फर्नीचर का अभाव है। फतेह बहादुर सिंह इंटर कालेज हाटा में पीछे की ओर चारदीवारी नहीं है। पिछले साल यहां विवाद हुआ था। वशिष्ठ सेवा संघ इंटर कालेज महेवा कला में वॉयस रिकॉर्डर व सीसीटीवी की केवल औपचारिकता पूरी की गई है। कई परीक्षा केंद्र अभावों से जूझ रहे हैं।


यूपी बोर्ड परीक्षाएं गुरुवार से शुरू हो रही हैं। बोर्ड और जिला प्रशासन भले ही केंद्रों को आधुनिक साज-सज्जाओं से युक्त होने का दावा कर रहा है लेकिन वास्तविकता इससे दूर है। कुछ परीक्षा केंद्र ऐसे बने हैं जहां बाउंड्रीवाल नहीं है। कुछ ऐसे हैं जहां टीन की छत है और कई कमरों पर छत भी नहीं है। सर्दी में हो रही परीक्षा में छात्रों पर क्या गुजरेगी समझा जा सकता है।

यूपी बोर्ड की गुरुवार से शुरू हो रही परीक्षा को नकलमुक्त कराने के लिए व्यापक इंतजाम किएगएहैं। बोर्ड ने कॉपी बदलने की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए नया तरीका निकाला है। बोर्ड ने सभी केंद्र व्यवस्थापकों को निर्देशित किया है कि कॉपी के प्रत्येक पन्ने पर कॉपी का क्रमांक व रोल नंबर लिखवाया जाए। इससे कॉपी या बीच के पन्ने बदलने पर पता चलेगा। पहले दिन गुरुवार सुबह 8 से 11.15 बजे की पाली में हाईस्कूल संगीत गायन और इंटर काष्ठशिल्प, ग्रन्थशिल्प व सिलाई की परीक्षा होगी जबकि 2 से 5.15 बजे की पाली में इंटर मनोविज्ञान, शिक्षाशास्त्र व तर्कशास्त्र का पेपर है।

प्रत्येक सेक्टर व स्टैटिक मजिस्ट्रेट केंद्र पर शांतिपूर्ण एवं शुचितापूर्ण परीक्षा कराने के लिए व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होंगे। 18 मंडलों में शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को पर्यवेक्षक के रूप में तैनात किया गया है। सचिव नीना श्रीवास्तव ने निर्देशित किया है कि परीक्षा केंद्रों के औचक निरीक्षण के दौरान वॉयस रिकॉर्डर युक्त सीसीटीवी कैमरा के प्रभावी रूप से कार्य करने की जांच की जाएगी।

Related Articles

Live TV
Close