तेजस्वी यादव पर सुशील मोदी का तंज, कहा

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बंगला खाली किया, तो उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी उसमें दाखिल हो गए हैं. यह बंगला डिप्टी सीएम को अलॉट किया गया है. अब इस बंगले में वही रहेगा, जो बिहार का डिप्टी सीएम रहेगा. बंगले को देखने के बाद सुशील मोदी ने कहा कि मुझे इस बंगले में आने में 18 महीने लग गए. इस बंगले को देखने के बाद पता चला कि इतना समय क्यों लगा. उन्होंने कहा कि 27 साल के राजनीतिक जीवन में मैंने ऐसा सरकारी बंगला नहीं देखा है.

सुशील मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति भवन, प्रधानमंत्री आवास, राजभवन और मुख्यमंत्री आवास से भी अच्छा है 5, देशरत्न मार्ग का बंगला. उन्होंने कहा कि डिप्टी सीएम रहते हुये वर्तमान विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने सरकारी पैसे का दुरुपयोग किया है.

सुशील मोदी ने कहा कि हम किसी तरह की कार्रवाई नहीं करेंगे, क्योंकि मेरे ऊपर पहले से ही बदले की राजनीति करने का आरोप लगता रहा है. साथ ही उन्होंने कहा कि जिस तरह का यह बंगला है, वो अपने आप में खास है. इसमें क्या चीज आम है, इसके बारे में हम नहीं कह सकते हैं. मैं कैसे इस बंगले को मेंटेन कर पाऊंगा, यही सोच रहा हूं.

सुशील मोदी ने कहा कि मुझसे कोई कह रहा था कि ऐसा बंगला है, जिसे देखने के लिए टिकट लगा देना चाहिये. लेकिन मैं चाहूंगा कि बिहार के लोग इस बंगले को देखें और इसके बारे में सोचे. गरीबों की बात करनेवाले किस तरह से गरीबों के पैसों का दुरुपयोग कर रहे हैं.

डिप्टी सीएम ने कहा कि तेजस्वी यादव ने इस तरह से बंगले को बनवाया था, जिसमें वो लंबे समय तक रहना चाहते थे. यही वजह है कि वह इस बंगले के लिए परेशान थे. इसके लिए लिए सुप्रीम कोर्ट तक गये, जहां पर उनकी ओर से कांग्रेस नेता और अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कोर्ट में बहस की और कहा कि संविधान में डिप्टी सीएम के पद का उल्लेख नहीं है, लेकिन कोर्ट ने तेजस्वी यादव को न सिर्फ बंगला खाली करने का आदेश दिया, बल्कि 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया. उन्होंने कहा कि कई-कई बंगले और भवनों के मालिक एक बंगले के लिए इस तरह से परेशान थे, ये समझ में आ रहा है.

सुशील मोदी ने कहा कि वह बंगले का उपयोग नहीं करेंगे, लेकिन यहां पर ऑफिस जरूर बनायेंगे, जिसमें लगातार बैठेंगे और लोगों से मुलाकात करेंगे. डिप्टी सीएम ने कहा कि हम तो मुख्यमंत्री से कहेंगे कि वो इसी बंगले में शिफ्ट हो जायें, क्योंकि ये बड़ा बंगला है और एक अणे मार्ग से बेहतर बंगला है. हम मुख्यमंत्री से बंगले को देखने का भी आग्रह करेंगे. डिप्टी सीएम ने कहा कि हम बंगले में इसलिए नहीं रहेंगे, क्योंकि मोह हो जाता है. हम अपने पिता के बनाये तीन कमरे के मकान में ही रहेंगे. उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव ने भवन निर्माण मंत्री रहते हुये 5, देशरत्न मार्ग पर पांच करोड़ से कम नहीं खर्च किये होंगे.

कोर्ट के फैसले का सम्मान करें पूर्व मुख्यमंत्री
डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने पूर्व मुख्यमंत्रियों के बंगले को लेकर पटना हाईकोर्ट के फैसले पर भी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि कोर्ट के फैसले का सम्मान होना चाहिये. हमारा आग्रह है कि पूर्व मुख्यमंत्री समय रहते अपने बंगले खाली कर दें. कोर्ट ने जो प्रावधान किया है, उसके मुताबिक ही काम होना चाहिये.

Related Articles

Live TV
Close