पाकिस्‍तान आर्मी चीफ ने किया सरहदी क्षेत्र का दौरा

पाकिस्‍तान आर्मी चीफ ने किया सरहदी क्षेत्र का दौरा

पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्‍तान में तनावपूर्ण रिश्‍तों के बीच पाकिस्‍तानी आर्मी के चीफ जनरल कमर बाजवा ने अपने यहां लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) का शुक्रवार को दौरा किया. इस दौरे में बाजवा ने भारत से किसी भी आक्रामक कार्रवाई से बचने को कहा. साथ ही उन्‍होंने कहा कि किसी भी सैन्‍य कार्रवाई को हमारे सैनिकों से उचित जवाब मिलेगा.

पाकिस्तानी अखबार ‘डॉन’ की वेबसाइट में प्रकाशित खबर के अनुसार, जनरल बाजवा ने शुक्रवार को भारत से जुड़े अपने सरहदी क्षेत्र की समीक्षा की. इसके पीछे उनका मकसद अपने सेना को यह निर्देश देना था कि वह किसी भी सैन्‍य कार्रवाई का जवाब देने के लिए तैयार रहें. दरअसल, गुरुवार को ही पाकिस्‍तान की राष्‍ट्रीय सुरक्षा कमेटी ने अपने सुरक्षाबलों को इसके लिए अधिकृत किया है कि वह भारत की तरफ से होने वाली किसी भी सैन्‍य कार्रवाई के लिए पूरी तरह से तैयार रहें. शीर्ष कमांडर की यात्रा ने सेना की उच्चतम स्तर की तैयारियों का संकेत दिया.

पिछले सप्‍ताह ही कश्मीर के पुलवामा क्षेत्र में भारतीय सुरक्षा बलों पर आतंकी हमले के बाद पाकिस्‍तान में यह डर पैदा हो गया है कि भारत, पाकिस्‍तान पर बड़ी कार्रवाई कर सकता है.

भारत के बाद अब इस ताकतवर देश ने भी दी पाकिस्‍तान को चेतावनी, कहा -‘गंभीर नतीजे भुगतने होंगे’

चिरिकोट और बस्तर सेक्टरों में मोर्चे पर तैनात सैनिकों से बात करते हुए जनरल बाजवा ने कहा कि पाकिस्‍तान शांति चाहने वाला मुल्‍क है, लेकिन हम भयभीत या मजबूर नहीं होंगे. किसी भी आक्रामकता या दुस्साहस का उसी लहजे में वापस जवाब दिया जाएगा.

इससे पहले जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा में पाकिस्‍तान समर्थित जैश-ए-मोहम्‍मद द्वारा सीआरपीएफ जवानों पर किए गए आतंकी हमले के आरोप लगने के बाद बौखलाए पाकिस्‍तान ने शुक्रवार को फिर भारत को गिदड़भभकी दी थी. पाकिस्‍तान आर्मी के प्रवक्‍ता और इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (ISPR) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने मीडिया को संबोधित करते हुए पाकिस्‍तान के इस हमले में किसी भी तरह से होने से साफ इनकार किया, बल्कि भारत को धमकी देते हुए कहा कि हम जंग की तैयारियां नहीं कर रहे. जंग की धमकियां आपकी तरफ से आ रही हैं.

उन्‍होंने आगे कहा कि ‘हम जंग की पहल करने की तैयारी नहीं कर रहे, लेकिन अपनी रक्षा करना हमारा हक है. हम गुजरे हुए कल की फौज नहीं है. अगर भारत ने कोई भी आक्रामक तेवर दिखाए तो हम भी जवाबी कार्रवाई करेंगे.

You Might Also Like