NDA के चुनावी मंच पर खूब होंगी डबल इंजन की बातें, गूंजेंगी विकास गाथा, जानिए

NDA के चुनावी मंच पर खूब होंगी डबल इंजन की बातें, गूंजेंगी विकास गाथा, जानिए

एनडीए के चुनावी मंच पर जो मुद्दे आने वाले दिनों में गूंजेंगे उन्हें इकट्ठा किए जाने और उनसे जुड़े आंकड़े जुटाने का काम शुरू हो गया है। एनडीए के दिग्गजों का कहना है कि हम सकारात्मक तरीके से राज्य सरकार के उन कार्यों का जिक्र करेंगे जो सामाजिक और विकास से जुड़े क्षेत्र में हुए हैैं जिसका लाभ समाज के सभी वर्गों को मिला है।

यही नहीं डबल इंजन की सरकार यानी केंद्र और राज्य में एक सरकार के आने से किस तरह से बिहार को फायदा हुआ यह भी एनडीए के चुनावी मंच पर विशेष चर्चा का विषय होगा।

डबल इंजन की सरकार के साथ करेंगे विकास की बात

डबल इंजन की चर्चा अभी से शुरू है। हाल ही में प्रधानमंत्री ने बिहार आकर बेगूसराय में तैैंतीस हजार करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन किया था। इसमें अधिकांश योजनाएं रोजगार से सीधा सरोकार रखती हैैं। पटना मेट्रो का भी शिलान्यास हुआ। पीएम पैकेज के तहत शुरू हुई योजनाओं का विशेष रूप से जिक्र होगा।

मुख्यमंत्री वृद्धजन पेंशन योजना की होगी चर्चा

सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के तहत लोगों को यह बताया जाएगा कि किस तरह से राज्य सरकार ने साठ वर्ष या अधिक आयु के सभी वृद्ध जनों के लिए चार सौै रुपए के मासिक पेंशन की व्यवस्था की है। एक अप्रैल 2019 से यह पेंशन योजना आरंभ हो जाएगी।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खुद विधानसभा में इसकी घोषणा की थी।  मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के बारे में भी बातें करेंगे। सामाजिक क्षेत्र में शराबबंदी को ले सरकार के अभियान के फायदे और शराब के धंधे मेें लगे गरीबों को नए रोजगार के लिए किस तरह से मदद की जा रही है, इस पर चर्चा होगी।

युवाओं को केंद्र में रख शुरू की गई योजनाओं पर करेंगे बात

कोशिश यह है कि युवाओं को केंद्र में रख राज्य सरकार ने जिन योजनाओं को आरंभ किया है उन पर भी चुनावी सभाओं में बात की जाए। इस क्रम में स्टुडेंट क्रेडिट कार्ड, कुशल युवा और सात निश्चय के तहत खुल रहे इंजीनियरिंग कॉलेज, एग्रीकल्चर कॉलेज, मेडिकल कॉलेज और नर्सिंंग की पढ़ाई वाले संस्थानों की भी चर्चा होगी।

आधारभूत संरचना के जिक्र के साथ भी साधेंगे निशाना

हाल ही में आधारभूत संरचना से जुड़ी परियोजनाओं के उद्घाटन का सिलसिला आरंभ हुआ है। इनमें पुल ओैर सड़क से जुड़ी परियोजनाओं के अतिरिक्त बड़ी संख्या में शैक्षिक परिसर हैं। इन आधारभूत संरचनाओं को केंद्र में रखकर भी चुनावी सभाओं में विपक्ष पर निशाना साधा जाएगा।

शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा ने आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय परिसर के उद्घाटन के दौरान इसका संकेत भी दे दिया। उपेंद्र कुशवाहा का नाम नहीं लेते हुए संकेत में उन पर निशाना साधते हुए कहा कि शिक्षा के नाम पर आंदोलन करने वाले नेता जी को यह परिसर आकर देखना चाहिए।

सवर्ण आरक्षण पर भी बातें होंगी पर यह भी बताएंगे

च नावी मंच पर सवर्ण आरक्षण की भी चर्चा होगी पर उसके साथ यह विस्तार से बताएंगे कि यह आरक्षण किसी भी तरह के आरक्षण को कम कर के नहीं किया गया है। आर्थिक आधार पर सवर्णों को जो दस फीसद का आरक्षण दिया गया है वह बिल्कुल ही पृथक है।

 

You Might Also Like