गृहकर बढ़ोत्तरी के विरोध में कांग्रेस ने बनाई रणनीति, छावनी परिषद में चढ़ा पारा

गृहकर बढ़ोत्तरी के विरोध में कांग्रेस ने बनाई रणनीति, छावनी परिषद में चढ़ा पारा

नगर निगम की पहली बोर्ड बैठक से ही कांग्रेसी पार्षदों के तेवर तल्ख दिखाई देंगे। लोकसभा चुनाव नजदीक आते देख कांग्रेसी पार्षद जनता से जुड़े मुद्दों को लेकर ज्यादा आक्रमण अंदाज में सदन में विपक्ष की भूमिका निभाएंगे।

राजपुर रोड स्थित कांग्रेस भवन में कांग्रेस पार्षदों की बैठक में महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा ने पार्षदों को नसीहत दी कि जनता के हित में होने वाले विकास कार्यों में वह अपनी भागेदारी सुनिश्चित करें। उन्होंने भाजपा सरकार को याद दिलाया कि चुनाव के दौरान भाजपा ने मलिन बस्तियों को मालिकाना हक दिलाने का वादा किया था और बोर्ड बैठक में शामिल करने का आश्वासन भी दिया था। लेकिन, अब इस मसले को बोर्ड बैठक के प्रस्ताव में शामिल ही नहीं किया गया, जिससे भाजपा की कठनी एवं करनी में अंतर खुलकर सामने आ गया है।

बैठक में निर्णय लिया कि गुरुवार को नगर निगम की पहली बोर्ड बैठक में 20 फीसद गृहकर का पुरजोर विरोध किया जाएगा। साथ ही नए वार्डों में सफाई व्यवस्था को ठेके में देने का भी कड़े विरोध की रणनीति बनाई गई है।

उन्होंने बताया कि बैठक में नए वार्डों में स्ट्रीट लाइन की सुचारू व्यवस्था किए जाने, संडे मार्केट को उचित स्थान दिए जाने, धरना स्थल को हटाने का विरोध, 14वें वित्त आयोग से प्राप्त ग्राम सभाओं के धनराशि का उचित आवंटन किए जाने जैसे मुद्दों पर गंभीर चर्चा की गई।

बैठक आगामी लोकसभा चुनावों को लेकर सभी पार्षदों से बूथ मैनेजमेंट और कार्यकर्ताओं में समन्वयक स्थापित करने के लिए चर्चा की गई। बैठक में पार्षद डॉ. विजेंद्र पाल सिंह, रमेश बुटोला, उर्मिला थापा, कोमल बोहरा, प्रवेश त्यागी, सुमित्रा ध्यानी, देविका रानी, अर्चना कपूर, ऊषा चौहान, संगीता गुप्ता, सोमेंद्र बोहरा, सागर लांबा, अनिल क्षेत्री सहित सभी कांग्रेसी पार्षद मौजूद रहे।

महिला कांग्रेस ने भी कसी कमर 

शहर के वार्ड नंबर-72 देहराखास की टीएचडीसी कॉलोनी में महिला कांग्रेस की बैठक हुई, जिसमें लोकसभा चुनाव की तैयारी को लेकर चर्चा की गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता महानगर महिला कांग्रेस अध्यक्ष कमलेश रमन ने की। उन्होंने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा सरकार की कमियों व नाकामियों को बूथ स्तर तक जन-जन तक पहुंचाया जाएगा।

महिला शक्ति को आयुष्मान जैसी योजना की खामियों को बताया जाएगा कि किस प्रकार से एक गरीब से चिकित्सा, शिक्षा, रसोई के नाम पर छलावा किया गया। बैठक में पुलवामा में शहीद सैनिकों श्रद्धांजलि भी दी गई।

बैठक में वार्ड प्रभारी देहराखास पुष्पा पंवार ने लोकसभा चुनाव के लिए बूथ कमेटी पर जोर दिया। बैठक में चंद्रकला नेगी, रजनी रावत, कैलाश ठाकुर, मंजीत कौर, शकुंतला किमोला, सरोज, रेखा नेगी, रूबी देवी, अनिता बिश्नोई, कुसुम, अनिता देवी, हिमानी देवी आदि मौजूद रहे।

हाउस टैक्स में बढ़ोत्तरी पर चढ़ा सभासदों का पारा

छावनी परिषद देहरादून ने हाउस टैक्स में बढ़ोत्तरी की है। ताज्जुब यह कि टैक्स बढ़ोत्तरी का निर्णय पांच माह पहले लिया गया, पर निर्वाचित सभासदों को इसकी याद अब आई है। लिहाजा उत्तराखंड सब एरिया के डिप्टी जीओसी गेडियर एचएस जग्गी की अध्यक्षता में हुई बोर्ड बैठक में उन्होंने बढ़ोत्तरी का विरोध किया। जिस पर कैंट प्रशासन ने दो टूक जवाब दिया। कहा कि हाउस टैक्स में बढ़ोत्तरी का निर्णय पांच माह पहले लिया जा चुका है।

इस दौरान आपत्तियां भी मांगी गई थी। तब किसी भी सभासद ने इस संदर्भ में आपत्ति दर्ज नहीं की है। इसके बाद कैंट प्रशासन ने भवन स्वामियों से बढ़ा हुआ टैक्स वसूलने की प्रक्रिया शुरू की है।

निर्वाचित सभासदों व कैंट प्रशासन का तर्क सुनने के बाद बोर्ड अध्यक्ष ने कहा कि इस पर कानूनी सलाह ली जाएगी और उसके बाद ही अंतिम निर्णय लिया जाएगा। हाउस टैक्स के अलावा बोर्ड बैठक में विकास कार्यों से संबंधित कई प्रस्ताव भी पारित किए गए।

छावनी परिषद के मुख्य अधिशासी अधिकारी जाकिर हुसैन ने बोर्ड के समक्ष 26 प्वाइंट एजेंडा रखा। छावनी परिषद का दिसंबर व जनवरी का लेखा-जोखा भी बोर्ड के समक्ष रखा गया जिसको सर्वसम्मति से पारित किया गया। इसके अलावा पेयजल, सड़क निर्माण, आवासीय के 16 और कार्मिशयल भवनों के चार मानचित्र भी पास किए गए।

कुछ मानचित्रों पर सेना के नामित सदस्यों ने आपत्ति दर्ज की। इसलिए अगली बोर्ड बैठक में इन मानचित्रों को रखा जाएगा। इसके साथ ही संविदा पर तैनात सैनेट्री इंस्पेक्टर मनोज कुमार और स्कूल क्लर्क यशवंत सिंह को भी एक साल का एक्सटेंशन दिया गया है।

आर्शीवाद एनक्लेव में नया ट्यूबवेल लगाने की अनुमति भी बोर्ड ने दी है। कुल मिलाकर आज हुई बोर्ड बैठक में हाउस टैक्स में बढ़ोत्तरी का मामला छाया रहा। छावनी परिषद की उपाध्यक्ष राजेंद्र कौर सौंधी, सभासद विनोद पंवार आदि सभासदों ने टैक्स में की गई 20 व 30 फीसद बढ़ोत्तरी का विरोध किया है।

कहा कि बिना सभासदों को भरोसे में लिए ही टैक्स में बढ़ोत्तरी का निर्णय लिया गया है। हालांकि  मुख्य अधिशासी अधिकारी का कहना है कि पूर्व में सभासदों ने इस बारे में कोई आपत्ति दर्ज नहीं की है। बोर्ड बैठक में सभासद जितेंद्र तनेजा, हितेश गुप्ता, कमलराल, मीनू, मेघा आदि भी मौजूद रहे।

You Might Also Like