अमेरिका ने पाकिस्तान को लताड़ा, आतंकवाद को पनाह न देने को कहा

भारत-पाकिस्तान सीमा पर तनाव के बीच अमेरिका ने पाकिस्तान को लताड़ा है। अमेरिका के हवाले से एएनआई ने जानकारी दी है कि अमेरिका ने भारत और पाकिस्तान से सीमा पार सैन्य गतिविधियों को रोकने और स्थिरता बनाने के लिए कहा है। अमेरिका ने दोनों देशों से अपील की है कि वर्तमान स्थिति को रोकने के लिए तत्काल कदम उठाए जाएं और आपस में बातचीत करें।

न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, अमेरिका ने कहा है कि सीमा पार आतंकवाद और हाल में सीआरपीएफ काफिले पर हुआ हमला सुरक्षा के लिए खतरा है। अमेरिका ने आगे कहा कि हम पाकिस्तान से आतंकवाद को पनाह न देने और पैसों तक उनकी पहुंच को रोकने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की प्रतिबद्धताओं का पालन करने को कहते हैं।

इससे पहले पाकिस्तान पर आतंकवादियों के खिलाफ ‘सार्थक कार्रवाई’ करने के दबाव को और बढ़ाते हुए अमेरिका के विदेश मंत्री माइकल पोम्पिओ ने पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से बात की और भारत के साथ मौजूदा तनाव को कम करने की प्राथमिकता पर बल देने पर जोर दिया था। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई की भारत की नई चाटेर्ड नीति का समर्थन करते हुए पोम्पिओ ने भारतीय वायुसेना की कार्रवाई को आतंकवाद के खिलाफ जवाबी कार्रवाई करार दिया है। उन्होंने यहां एक बयान में कहा, ‘मैंने पाकिस्तानी विदेश मंत्री कुरैशी से मौजूदा तनाव को कम करने की प्राथमिकता पर बल देने और अपनी जमीन पर सक्रिय आतंकवादी समूहों के खिलाफ सार्थक कार्रवाई करने के लिए कहा है।’

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बुधवार को कहा था कि उनका देश जंग नहीं चाहता है और उन्होंने भारत से सभी लंबित मुद्दों के हल के लिए वार्ता की मेज पर आने का आह्वान किया। कुरैशी ने कहा कि का हमला अपनी रक्षा करने के हमारे अधिकार, हमारी ईच्छाशक्ति और हमारी क्षमता को दर्शाता है। हम आशा करते हैं कि भारत सभी लंबित मुद्दों के हल के लिए वार्ता की मेज पर आएगा।

Related Articles

Live TV
Close