पाकिस्तान ने 4 मार्च तक पंजाब प्रांत में एयरस्पेस को किया बंद, सभी उड़ानें रद्द

पाकिस्तान ने 4 मार्च तक पंजाब प्रांत में एयरस्पेस को किया बंद, सभी उड़ानें रद्द

भारत-पाकिस्तान सीमा पर जारी तनाव के मद्देनजर पाकिस्तान की ओर से आधिकारिक तौर पर पंजाब प्रांत में अपना एयरस्पेस 4 मार्च तक बंद रखने की घोषणा की गई है. भारत-पाकिस्तान के बीच तनावपूर्ण हालातों के बीच किसी तरह की अनहोनी न हो, इसके लिए एहतियातन एयरस्पेस को बंद कर दिया गया है. एयरस्पेस बंद होने के कारण तत्काल प्रभाव से सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को रद्द कर दिया गया है. 

भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़े तनाव के मद्देनजर पाकिस्तान में हवाई क्षेत्र बंद होने से यात्री कराची, लाहौर और देश के अन्य हिस्सों की यात्रा के लिए ट्रेनों का रूख कर रहे हैं. यह स्थिति पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र को दो दिनों तक बंद रखने के बाद पैदा हुई है.

रेलवे रावलपिंडी डिवीजन में पिछले दो दिनों में यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी देखी गई, जिसके परिणामस्वरूप प्रबंधन ने मांग को पूरा करने के लिए कराची जाने वाली ट्रेनों के लिए अधिक कोचों की व्यवस्था की. इस्लामाबाद से कराची जाने वाली ग्रीन लाइन ट्रेन, जिसमें आम तौर पर प्रतिदिन 280 यात्री सफर करते हैं, पिछले हफ्ते यह 324 सीटों और दो से तीन अतिरिक्त कोचों के साथ खचाखच भरी थी.

रेलवे ने बढ़ाई ट्रेन में कोचों की संख्या

पाकिस्तान एक्सप्रेस और तेजगम एक्सप्रेस ने भी यात्रियों के लिए अतिरिक्त कोचों की व्यवस्था की है जबकि क्वेटा और मेहर एक्सप्रेस में भी आम दिनों के मुकाबले ज्यादा यात्रियों ने सफर किया. लाहौर जाने वालीं पांच ट्रेने शहर से खचाखच भरे यात्रियों के साथ रवाना हुई, जिससे रेलवे प्रबंधन को कोचों की संख्या बढ़ाने के लिए मजबूर होना पड़ा. रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि 70 प्रतिशत सीटें आमतौर पर हर दिन लाहौर जाने वाली ट्रेनों के लिए आरक्षित होती हैं, लेकिन पिछले दो दिनों में एक दिन पहले ही 100 प्रतिशत सीटें बुक हो चुकी थीं.

इस बीच, गुरुवार को विमानन अधिकारियों और एयरलाइंस के प्रबंधन द्वारा स्थिति की समीक्षा के लिए उच्च-स्तरीय बैठकें की गई. नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएए) ने गुरुवार शाम 4.10 बजे थोड़ी देर के लिए हवाई क्षेत्र खोला था जिससे अल्लामा इकबाल अंतर्राष्ट्रीयहवाई अड्डे लाहौर और बाचा खान अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पेशावर पर खड़ी विदेशी एयरलाइनों के विमानों को केवल अपने चालक दल के सदस्यों को लेकर अपने मूल गंतव्यों के लिए वापस जाने की अनुमति मिली.

You Might Also Like