जैश-ए-मोहम्‍मद ने माना, भारत ने PoK में तबाह किए उसके आतंकी कैंप

जैश-ए-मोहम्‍मद ने माना, भारत ने PoK में तबाह किए उसके आतंकी कैंप

पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर (पीओके) में 26 फरवरी को भारतीय सेना की ओर से आतंकी कैंपों पर की गई एयर स्‍ट्राइक को भले ही पाकिस्‍तान मानने से इनकार कर रहा हो. लेकिन खुद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद ने एक कथित ऑडियो जारी करके इस बात की पुष्टि की है कि भारतीय वायुसेना ने एयर स्‍ट्राइक में उसके आतंकी कैंपों को तबाह किया है. हालांकि ज़ी न्‍यूज इस ऑडियो की पुष्टि नहीं करता है.

आतंकी संगठन की ओर से जारी किए गए कथित ऑडियो में सुना जा सकता है, ‘जहां हम जिहाद करते हैं, वहां हमला हुआ है. दुश्‍मन जब अपनी सरहदें पार करके इस्लामी मुल्क में दाखिल हो गया, बमबारी कर दी. दुश्मन की तरफ से ऐलान-ए-जंग हो गया.’ बता दें कि भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पीओके में 12 मिराज लड़ाकू विमानों के जरिये जैश-ए-मोहम्‍मद के आतंकी ठिकानों पर 1 हजार किग्रा बमबारी की थी. इसमें बड़ी संख्‍या में आतंकी संगठन और आतंकी मारे गए.

बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना की ओर से पाकिस्‍तान में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद के ठिकानों पर की गई एयर स्‍ट्राइक के सबूतों को लेकर सूत्रों के हवाले से शनिवार को बड़ी खबर सामने आई थी. रक्षा विभाग के सूत्रों के मुताबिक पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर (पीओके) में जैश के आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक के पर्याप्त सबूत सेना के पास हैं. इमेज विशेषज्ञों के एयर स्ट्राइक के टारगेट पर सटीक वार को लेकर सवाल उठाने के बाद सेना के एक सूत्र ने यह जानकारी दी. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सरकार तस्वीरों को जारी करने पर फैसला ले सकती है.

पीओके में जैश के आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक को लेकर रक्षा विभाग ने शुक्रवार को कहा था कि डिफेंस विभाग के पास इससे जुड़े साक्ष्य मौजूद हैं. रक्षा विभाग का कहना है कि उनके पास सिंथेटिक अपर्रचर रडार तस्वीरें हैं, जिनसे रडार के ठिकानों पर शक्तिशाली अटैक को साबित किया जा सकता है. इस प्रमाण को जारी करने का फैसला अब सरकार के हाथ में है.

बता दें कि 14 फरवरी को पाकिस्‍तान समर्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद ने जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा में आतंकी हमला अंजाम दिया था. इसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे. इसके बाद भारतीय वायुसेना ने 12 मिराज लड़ाकू विमान के जरिये 26 फरवरी की अलसुबह पीओके में घुसकर जैश के आतंकी ठिकानों को तबाह किया था. पाकिस्‍तान ने भी भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों के पीओके में घुसने की बात कुबूली थी. पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने भी ट्वीट कर भारतीय एयरफोर्स के LOC क्रॉस करने की बात कबूल की थी. हालांकि पाकिस्तान ने तबाही पर चुप्पी साध ली है.

जैश का यह कुबूलनामा उन लोगों के लिए भी बड़ी बात है जो केंद्र सरकार से इस एयर स्‍ट्राइक में तबाह आतंकी कैंपों के सबूत मांगे थे. बता दें कि तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार से भारतीय वायुसेना की एयर स्‍ट्राइक में तबाह आतंकी कैंपों से संबंधित सुबूत भी मांगे थे. वहीं कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी कहा है कि हम इस सैन्‍य ऑपरेशन पर सवाल नहीं उठा रहे. लेकिन यह तकनीकी समय है और सैटेलाइट तस्‍वीरें लेना संभव है. जैसे अमेरिका ने ओसामा को मारने का पुख्‍ता सबूत दिया था, वैसे हम भी एयर स्‍ट्राइक को लेकर कर सकते हैं.

You Might Also Like