लालू के ट्वीट का शायराना अंदाज, क्या मिल पाएगी उन्हें जमानत? जानिए

लालू के ट्वीट का शायराना अंदाज, क्या मिल पाएगी उन्हें जमानत? जानिए

लोकसभा चुनाव की घोषणा में अब कुछ ही दिन बचे हैं। घोषणा से ठीक पहले बिहार में सियासत तेज हो गई है। इस बीच राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने अपने विरोधियों पर एक बार फिर से निशाना साधा है। लालू के इस ट्वीट को देखकर लग रहा है कि क्या लालू सलाखों से बाहर आने वाले हैं?

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को रांची हाईकोर्ट से ज़मानत नहीं मिली और अब राजद को उनकी जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट से बड़ी उम्मीदें है। लालू के वकील का मानना है कि 2013 में जिस तरह से चारा घोटाले के एक मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी थी।

उसी चारा घोटाला के दूसरे केस में आज लालू पिछले एक साल से जेल में सजा काट रहे हैं और इसी ग्राउंड पर लालू के वकील को पूरी उम्मीद है कि 2013 की ही तरह इस बार भी लालू को जमानत मिल जाएगी। लालू के वकील चित्तरंजन सिन्हा को केस के मेरिट पर भी पूरा भरोसा है। साथ हीं लालू के खराब स्वास्थ्य का भी हवाला देकर ज़मानत की गुहार लगाई जा रही है।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में पिछले 10 दिन पहले लालू की जमानत याचिका दायर की गई है, जिसकी सुनवाई इसी हफ्ते या फिर अगले हफ्ते की शुरुआत में होने की पूरी संभावना है।

वहीं, बुधवार को लालू ने ट्वीट कर शायराना अंदाज में अपने विरोधियों पर चुटकी ली। लालू ने लिखा मुद्दई लाख बुरा चाहे तो क्या होता है, वही होता है जो मंजूरे ‘जनता’ होता है।

इसके साथ ही लालू ने एक तस्वीर भी पोस्ट की है जिस पर लिखा है न मैं गिरा न मेरे हौसले के मीनार गिरे, मगर मुझे गिराने में कई लोग बार-बार गिरे।

मुद्दई लाख बुरा चाहे तो क्या होता है

वही होता है जो मंजूरे ‘जनता’ होता है।

You Might Also Like