नितिन गडकरी, राजनाथ सिंह व सीएम योगी ने लखनऊ समेत कई शहरों को दी बड़ी सौगात

नितिन गडकरी, राजनाथ सिंह व सीएम योगी ने लखनऊ समेत कई शहरों को दी बड़ी सौगात

लखनऊ। नरेंद्र मोदी सरकार में भूतल व जल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के साथ गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज लखनऊ के साथ प्रदेश के आधा दर्जन शहरों को बड़ी सौगात दी। लखनऊ के झूलेलाल पार्क में इस अवसर पर सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा भी मौजूद थे।

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने इस अवसर पर कहा कि नितिन गडकरी पूरे देश में विकास गंगा बहा रहे हैं। मुझे लगता है कि आज का दिन यूपी के लिए अहम है। आज लग रहा है उत्तर प्रदेश का भाग्योदय हो गया है। लोगों में उत्साह है। यूपी में लोक निर्माण विभाग भी अनेक परियोजनाएं आ रही हैं। इस पहले उत्तर प्रदेश में बुआ और भतीजे की सरकारों ने जनता का नहीं किया था। आज विकास हो रहा है। पीडब्ल्यूडी ने 22 हजार करोड़ के गांव में संपर्क मार्ग बना रहे हैं। एक्सप्रेस वे से पांच किमी अंदर के मार्ग जोड़े जाएंगे। हमने नई तकनीक से लागत घटाई और गुणवत्ता बढाई। हमने कार्बन उत्सर्जन कम किया।

डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार के समायोजन से बहुत बढिय़ा काम हुआ है। इससे उत्तर प्रदेश में विकास की गति भी काफी तेज हो गई है। लोगों को अब काम दिखने लगा है जो लंबे समय से बंद था। उन्होंने कहा कि नितिन गडकरी जो बोलते हैं वह आदेश हो जाता है। ऐसा ही राजनाथ सिंह भी करते हैं। कुंभ में मुख्यमंत्री विकास के पर्याय बन हैं।

कल होगा दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस वे का शिलान्यास : गडकरी
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि आज मुझे बहुत ख़ुशी महसूस हो रही है। यहां पर राजनाथ सिंह की निधि से विकास काम को देखकर लग रहा है कि लखनऊ बदल गया। मैं पहले भी लखनऊ आया था, लेकिन अब बड़ा फर्क महसूस रहा है। आज एक पैकेज का लोकार्पण किया है। राजनाथ जी ने जितने काम बताए थे वह सब पूरे कर दिए गए हैं। नमामि गंगे में गोमती को शामिल करने को कहा था। आज 300 करोड़ का वह काम भी किया जा रहा है। आज यहां पर 80 परियोजनओं पर काम हो रहा है। दिल्ली से मुंबई के बीच एक्सप्रेस वे का कल शिलान्यास करेंगे। द्वारिका एक्सप्रेस वे का शिलान्यास कल गुरुग्राम में होगा।

नितिन गडकरी ने कहा कि हमने अपनी सरकार में राजमार्ग निर्माण की गति दोगुनी बढाई है। गंगा नदी में भी 12 हजार करोड़ रुपये का काम हो रहा है। पांच हजार करोड़ जलमार्ग में तीन हजार करोड़ का काम यूपी में होगा। यूपी में पिछली सरकार में भूमि अर्जन नहीं होता था। अब हम यूपी सरकार से गंगा के काम में सहयोग चाहते हैं। हम गंगा में काम कर रहे हैं। यूपी में मदद मिल रहे हैं। हम तो गंदे पानी के साथ पराली से बायो सीएनजी बनाते हैं। यह काम नागपुर में हो रहा है। अब इसको उत्तर प्रदेश में लाना चाहते हैं। जिससे जल और वायु प्रदूषण से मुक्ति मिलेगी। गोमती नदी को नमामि गंगे परियोजना में राजनाथ सिंह ने शामिल किया है।

उन्होंने कहा कि कुंभ की व्यवस्थाओं को गिनीज बुक में आना चाहिए। जब सुरेश खन्ना जी के अधिकारी पहली बार मेरे पास आए थे तब उनको बुरी तरह से डाटा था। गंगा अब बेहतर हो रही है। मैं कहता हूं कि मेरे पास पैसे की कोई कमी नहीं है। हम जो सड़क बनाएंगे उन पर 200 वर्ष तक गड्ढे नहीं होंगे। आपकी पीढियां चलेंगी मगर सड़क खराब नहीं होगी। जल मार्ग के जरिये वाराणसी से बांग्लादेश माल जा सकता है।

आज उत्तर प्रदेश के लिए गौरवशाली दिन
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश के लिए गौरव का दिन है। विकास के लिए जो प्रस्ताव दिए आज उससे उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदली है। अच्छे राजमार्ग और सड़क बनी हैं। दो वर्ष पहले जहां से सड़क में गड्ढे थे, आज वहां की तस्वीर बदल गई है। सड़क पर आमूलचूल बदलाव दिखे हैं। नदी में नमामि गंगे परियोजनाओं में देखा। आजादी बाद पहली बार प्रचूर मात्रा में साफ जल संगम में दिखा। 2013 में महाकुंभ में 12 करोड़ लोग आए थे।

उन्होंने कहा कि इस बार कुंभ में 24 करोड़ से अधिक लोगों ने स्नान किया। यह संभव हो सका, क्योंकि नमामि गंगे योजना लागू हो पाई। यही अंतर है जब मारीशस के प्रधानमंत्री 2013 में आए थे। तब उन्होंने डुबकी लगाई थी। इस बार जब फिर आए तो उन्होंने जब निर्मलता देखी तब स्नान किया। नमामि गंगे परियोजना ने एक नया विश्वास बनाया है। गंगा में कहीं भी गंदगी न गिरे इस भाव को पूरी प्रतिबद्धता से अपनाया। हमने तकनीकों का उपयोग किया। स्वच्छ कुम्भ बनाया। टीम भावना से काम किया गया। आज राजमार्ग देश की समृद्धि और आर्थिक महाशक्ति बना रहे हैं। आज इतनी बड़ी लोकार्पण और शिलान्यास हो रहा है। लखनऊ को आगे बढाने के लिए राजनाथ सिंह ने बहुत अच्छा काम किया। वे हम सब का संबल बना है।

उम्मीद पर कितना खरा उतरा, इसका फैसला आप करेंगे

गृह मंत्री तथा लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह ने कहा कि आज मैं राजनैतिक भाषण नहीं करूंगा। पांच वर्ष पूरे हो रहे हैं। मैं आपकी उम्मीद पर कितना खरा उतरा हूं उसका फैसला आप करेंगे। सबसे बड़ा श्रेय नितिन गडकरी को जाता है। वह दृढ़ हैं। वह जो कहते हैं वह कर देते हैं। जो पानी से भी निकाल तेल निकाला दे वह नितिन गडकरी है। जो बिना फंड के काम करा दे वह नितिन गडकरी है। लखनऊ आज लक नाऊ बन गया है। इस शब्द का उपयोग अटल बिहारी वाजपेई ने किया था। जो भी मैं कर रहा हूं वाजपेयी जी के सपनों को पूरा कर रहा हूँ।

राजनाथ सिंह ने कहा कि 105 किमी की आउटर रिंग रोड का काम 2022 तक पूरा हो जाएगा। अगले तीन महीने में 12 किमी आउटर रिंग रोड पूरा हो जाएगा। 2022 के शुरुआती महीने में पूरा 105 किमी आउटर रिंग रोड बन जाएगा। उन्होंने कहा कि कुकरैली पुल को रोड सेफ्टी की एनओसी नहीं मिला है। अभी इसके खुलने में 20 से 25 दिन का समय लगेगा। केवल हल्के वाहन चलने की संभावना।

लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह के साथ नितिन गडकरी, सीएम योगी आदित्यनाथ तथा डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा ने आज एक लाख करोड़ रुपये के तोहफे की बारिश की। लखनऊ में कुकरैल नाले पर पुल-सिक्स लेन रोड, आउटर रिंग रोड के अलावा शहर के रेलवे स्टेशनों पर सुधार कार्यों का लोकार्पण किया गया। लखनऊ कानपुर के बीच एक्सप्रेस वे, कुर्सी रोड टेढ़ी पुलिया और मडिय़ांव आइआइएम तिराहे के बीच फ्लाइओवर का शिलान्यास होगा। इसके साथ नमामि गंगे परियोजना के तहत कई नदियों को स्वच्छ करने के लिए परियोजनाओं का लोकार्पण राजनाथ सिंह ने किया।

इन प्रमुख योजनाओं का लोकार्पण

– 3332 करोड़ से सुलतानपुर रोड फोर लेन चौड़ीकरण।

– 754 करोड़ में कुर्सी रोड से अयोध्या रोड तक 15 किमी आठ लेन आउटर रिंग रोड।

– 180 करोड़ से पांच किमी लंबे सिक्स लेन रोड और कुकरैल पुल।

– 3.50 करोड़ से सिटी स्टेशन पर द्वितीय प्रवेश द्वार।

शिलान्यास

– नमामि गंगे परियोजना के तहत गोमती प्रदूषण नियंत्रण इकाई की 298 करोड़ की परियोजना का शिलान्यास।

– 14 नगरों में प्रदेश की नमामि गंगे के तहत पांच प्रमुख नदियों में प्रदूषण नियंत्रण के लिए 14 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास।

– 4700 करोड़ रुपये से 63 किमी लंबे लखनऊ-कानपुर ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस वे।

– इंजीनियङ्क्षरग कॉलेज चौराहे से आइआइएम तिराहे तक 136 करोड़ में फ्लाइओवर।

– प्रदेश में 188 करोड़ में 25 किमी मार्गों का शिलान्यास।

– 2.53 करोड़ से जानकीपुरम विस्तार में 100 बेड का ट्रामा सेंटर।

– गांव बेंती में 1.36 करोड़ में पीएचसी।

– 1.88 करोड़ से लखनऊ जंक्शन में दो स्वचलित सीढिय़ां।

– ऐशबाग जंक्शन में 1.88 करोड़ में दो स्वचलित सीढिय़ां।

– उत्तर रेलवे चारबाग में 5.5 करोड़ में छह स्वचलित सीढिय़ां।

– नगर निगम से 76 करोड़ के अवस्थापना कार्य

– राजनाथ सिंह की सांसद निधि से 31 और अशोक वाजपेई की सांसद निधि से 23 कामों का शिलान्यास।

You Might Also Like