अयोध्या भूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट की मध्यस्थता का इस पार्टी ने किया स्वागत,

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने अयोध्या राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद पर शुक्रवार को दिए गए उच्चतम न्यायालय के फैसले की सराहना करते हुए कहा कि सर्वसम्मति से मतभेदों का समाधान राष्ट्रीय हित में है. प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने शुक्रवार को राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद की मध्यस्थता के लिए एक पैनल को भेज दिया. इस पैनल की अध्यक्षता शीर्ष अदालत के सेवानिवृत न्यायमूर्ति एफएमआई कलीफुल्ला करेंगे.

 

कोर्ट ने पैनल को दिया 8 दिन का समय
मध्यस्थता के लिये गठित समिति के अन्य सदस्यों में आध्यात्मिक गुरू श्री श्री रविशंकर और वरिष्ठ अधिवक्ता श्रीराम पांचू शामिल हैं. आवश्यकता हो तो, इसमें और सदस्य शामिल किए जा सकते हैं. उच्चतम न्यायालय ने पैनल को कार्यवाही पूरी करने के लिए आठ सप्ताह का समय दिया है.

मध्यस्थ पैनल के गठन का स्वागत करते हैं
राकांपा के प्रवक्ता नवाब मलिक ने एक बयान में कहा, ‘‘हम तीन सदस्यीय मध्यस्थ पैनल के गठन का स्वागत करते हैं. अगर विवाद सुलझ गया, तो यह देश हित में होगा. राष्ट्र को उम्मीद है कि यह मुद्दा सर्वसम्मति से हल किया जाएगा.’’

Related Articles

Live TV
Close