देश पर जब-जब आतंकी खतरा हुआ, हमने मुकाबला किया

देश पर जब-जब आतंकी खतरा हुआ, हमने मुकाबला किया

 प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 10 मार्च को केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के 50वें स्थापना दिवस पर आयोजित समारोह में हिस्सा लेंगे और जवानों को संबोधित करेंगे। यह कार्यक्रम शुरू हो गया है। चाक-चौबंद वीआईपी रूट के चलते पुलिस और सीआईएसफ ने एलिवेटेड रोड को बंद किया गया है। तत्‍काल एलिवेटेड रोड पर सिर्फ वीआईपी का ही मूवमेंट रहेगा। इस इलाके की सुरक्षा की व्‍यवस्‍था को बढ़ा दी गई है। बता देें कि पीएम मोदी लगातार तीसरे दिन एनसीआर में हैं।

अपडेट :

प्रधानमंत्री व अन्य मंत्रियों के भाषण में स्वागत में सीआईएसएफ के डीजी राजेश रंजन ने भाषण शुरू किया। सीआईएसफ डीजी ने सभी को पहले बधाई दी। उन्‍होंने कहा कहा कि बोले बीते 50 वर्षों में सीआइएसफ में लगातार विकास किया है उसकी भूमिका में भी लगातार परिवर्तन हुआ है। सीआईएसफ की स्थापना सिर्फ औद्योगिक प्रतिष्ठानों के लिए हुई थी लेकिन अब यह बल सभी ऐतिहासिक प्रतिष्ठानों व अन्य प्रतिष्ठानों की सुरक्षा कर रहा है।

आतंकी धमकियों का जमकर किया मुकाबला
देश को जब-जब आतंकी धमकी और अन्य खतरों में जरूरत पड़ी है तो सीआईएसफ ने बढ़ चढ़कर उसका मुकाबला किया है। संसद पर हमले के बाद से सीआईएसएफ पर ही संसद भवन की सुरक्षा का दायित्व है। हम इस दायित्व को बखूबी निभा रहे हैं।

मेट्रो से लेकर एयरपोर्ट सब जगह अचूक सुरक्षा देते हैं सीआईएसएफ

अकेले दिल्ली मेट्रो में सीआईएसएफ रोज 3000000 लोगों की सुरक्षा करता हैं, जबकि एयरपोर्ट पर रोज 700000 यात्रियों की सुरक्षा का जिम्मा हम पर है। सीआईएसएफ उन सभी वीरों को सलाम करता है जिन्होंने देश सेवा में अपना जीवन न्योछावर किया है।

परेड मार्च करती सीआईएसएफ महिला कमांडो।

पीएम मोदी पहुंचे सीआईएसएफ। बैंड ने उन्‍हें सलामी दी। अब पीएम मोदी परेड का निरीक्षण कर रहे हैं।

पीएम का हेलीकॉप्‍टर सभा स्‍थल पहुंचा। पीएम मोदी चंद मिनट में पहुंचेंगे परेड ग्राउंड।

सड़कों पर गाड़ियों की सुरक्षा जांच की जा रही है। कुछ जगहों पर डायवर्जन भी किया गया है।

प्रधानमंत्री इससे पहले भारत तिब्बत पुलिस बल और सीमा सुरक्षा बल के सैनिकों से मिल चुके हैं। मोदी भारतीय वायु सेना के हेलीकाप्टर से आयोजन स्थल पर पहुंचे हैं । वे सबसे पहले कैम्प के परिसर में शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित करेंगे और सीआईएसएफ के सलामी गारद का निरीक्षण करेंगे।

उनका वहां सीआईएसएफ कर्मियों को संबोधित करने का भी कार्यक्रम है। इसके बाद सीआईएसएफ के जवानों और अधिकारियों को उत्कृष्ट सेवा मेडल से सम्मानित भी किया जाएगा। अधिकारियों ने बताया कि बल अपना 50वां स्थापना दिवस मना रहा है और यह विशेष अवसर है और इसलिए प्रधानमंत्री मोदी इस कार्यक्रम में शामिल हो रहे हैं।

बता दें कि इसी वर्ष इस बटालियन को गणतंत्र दिवस के अवसर पर पर झांकी में भी शामिल किया गया है।सीआईएसएफ की स्थापना 10 मार्च, 1969 में हुई थी। सीआइएसएफ के चीफ पीआरओ हेमेंद्र सिंह ने रविवार को बताया कि सीआईएसएफ ने अपने 51वें स्थापना दिवस की तैयारी पूरी कर ली है। इस स्थापना के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मुख्य अतिथि बनाया गया है। उन्होंने बताया कि सीआईएसएफ इस बार पीएम मोदी के सामने अपने कौशल का प्रर्दशन करेगी।

You Might Also Like