ग्रेटर नोएडा रैली में PM के निशाने पर रहे राहुल-अखिलेश व मायावती, पढ़िए 10 बड़े हमले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ग्रेटर नोएडा में चार बड़ी परियोजनाओं के शिलान्यास और उद्घाटन के दौरान राहुल गांधी, अखिलेश यादव और मायावती पर जमकर हमले किए। इस दौरान घोटालों और अव्यवस्था के मुद्दे पर केंद्र में सत्तासीन कांग्रेस की सरकारों के साथ प्रदेश की सपा व बसपा सरकारों के राहुल, अखिलेश और माया की जमकर खिंचाई की। आइए जानते हैं पीएम मोदी के कांग्रेस व सपा-बसपा पर 10 बड़े हमले।

1.  कांग्रेस, सपा और बसपा की पूर्व की सरकारों में हर जगह दलाल बैठे थे, उन दलालों को मैंने खत्म करने का काम किया है। अब दलाली करने वाले और बिचौलिया और जनता को लूटने वाले लोग मिलकर महागठबंधन बना रहे हैं।

2. पहले नोएडा की पहचान भूमि आवंटन व टेंडर घोटाले के रूप में होती थी। पुरानी सरकारों में नोएडा-ग्रेटर नोएडा को खूब लूटा गया, लेकिन अब नोएडा की पहचान विकास कार्यों से हो रही है।

3.कांग्रेस की सरकारों ने प्राचीन सभ्यता संस्कृति को नष्ट करने का काम किया, पहले की सरकारों ने अपने घोटालों पर घोटाले किए। मीडिया को राग दरबारी और चाटुकारों की पहचान करनी चाहिए।

4. कांग्रेस की सरकार की गलत नीतियों के कारण देश उन देशों से भी बिछड़ गए जो हमारे साथ आजाद हुए थे। हमारी सरकार दलाली करने वालों से सख्ती से निपट रही है।

5. क्या भारत 26/11 के आतंकवादी हमले को भूल सकता है? तब आतंकवादियों पर कार्रवाई करने के लिए दम चाहिए था, लेकिन रिमोट कंट्रोल वाली सरकार में यह दम नहीं था।

6.26/11 के आतंकवादी हमले के दौरान हमारी सेना बदला लेने के लिए तैयार थी, लेकिन तत्कालीन सरकार सोती रही। यही कारण था कि मुंबई हमले के बाद भी देश में लगातार आतंकवादी हमले होते रहे। इन हमलों में लोग मरे और घायल हुए, लेकिन पहले की कांग्रेस सरकार ने अपनी नीति नहीं बदली।

7. जो देश को टुकड़े करने का सपना देख रहे हैं उन को कड़ा जवाब दिया जा रहा है। जो देश के खिलाफ साजिश रचने का काम कर रहे है उनको जवाब दिया जाएगा।

8. जो लोग सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांग रहे हैं वह पाकिस्तान की मदद कर रहे हैं, ऐसे लोगों को सही रास्ते पर लाने की जरूरत है। ये कैसे लोग हैं इन को पहचानिए जिनके नाम पर पाकिस्तान में तालियां बज रही हैं।

9. पाकिस्तान कह रहा है कि मोदी हमें मार कर चला गया, वह चिल्ला रहा है और रो रहा है दुनिया के आगे, लेकिन हमारे यहां सबूत मांगे जा जा रहे हैं।

10. कांग्रेस की केंद्र सरकार ने बिजली व्यवस्था सुधारने के लिए कोई कदम नहीं उठाया। कांग्रेस सरकार ने कभी भी बिजली उत्पादन के क्षेत्र में कोई काम नहीं किया, यही कारण है कि देश में जरूरत के हिसाब से बिजली पैदा नहीं हो पाई।

Related Articles

Live TV
Close