बिगड़ी ‘सूरत’: दमकल की सीढ़ी पड़ी छोटी, एक छात्र ने अपने साहस से बचाईं कई जिंदगियां

गुजरात के सूरत की चार मंजिला इमारत में लगी आग का मंजर दिल दहला देने वाला था। सरथना इलाके की तक्षशिला कांप्लेक्स में जब आग लगी तो कई छात्र तीसरी और चौथी मंजिल पर स्थित कोचिंग क्लास में पढ़ाई कर रहे थे। आग की लपटे बढऩे के साथ ही मंजिल पर धुआं बढऩे लगा। छात्रों ने बचने की बहुत कोशिश की, लेकिन जब दम घुटने लगा और उन्हें बचने का कोई रास्ता नहीं दिखा तो उन्होंने बिना सोचे समझे ही नीचे छलांग लगाने लगे। हालांकि आपस में ही कुछ छात्रों ने एक दूसरे की मदद करने की कोशिश की। एक छात्र ने तो करीब चार साथियों की जान भी बचाई, वो लंबे समय तक इमारत के छज्जे पर खड़े रहकर कई साथियों को नीचे उतरने में मदद करता रहा। लेकिन इनमें से कई छात्रों के लिए यह मौत की छलांग साबित हुई।

राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष दुख जताया 
‘सूरत में हुए हादसे की खबर से बहुत दुख पहुंचा। पीडि़त परिवारों के प्रति, मैं गहरा शोक और संवेदना व्यक्त करता हूं। साथ ही घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

 राजनाथ सिंह, गृहमंत्री
‘हादसे की खबर से बेहद दुखी हूं। कई छात्रों ने अपना बहुमूल्य जीवन गंवा दिया। मेरी संवेदना मृतकों के परिवारवालों के साथ हैं। घायलों के जल्द ठीक होने की प्रार्थना करता हूं।

Related Articles

Live TV
Close