गार्ड ने लाइसेंसी बंदूक से खुद को मारी गोली, खून से लथपथ शव देख पत्नी के उड़े होश

राजधानी में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। बुधवार को एक निजी कंपनी में गनमैन की नौकरी करने वाले युवक ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। गोली की आवाज सुनकर पत्नी दौड़कर भागी तो कमरे में खून बिखरा देख उसके होश उड़ गए। बताया जा रहा है कि युवक पिछले एक साल से बेरोजगार था। उसने अपनी लाइसेंसी 12 बोर की दो नाली बंदूक से ठोढ़ी पर रखकर ट्रिगर दबा दिया। पुलिस की प्रारंभिक जांच में घरेलू कलह के चलते सुसाइड का मामला सामने आ रहा है। फिलहाल पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है। मामले की जांच की जा रही है।

ये है पूरा मामला मड़ियांव थानाक्षेत्र के हरिओम नगर का है। यहां मूलरूप से कैसरगंज बहराइच निवासी अजय कुमार श्रीवास्तव (42) पत्नी रूबी व बेटी महक (14) और बेटा चंद्रेश (11) के साथ रहता था। पत्नी रूबी के मुताबिक, अजय एक निजी सिक्योरिटी कंपनी में गनमैन की नौकरी करते थे। करीब एक साल से वह बेरोजगार थे। अजय मंगलवार रात बेटी के साथ कमरे में सोए हुए थे। जबकि पत्नी बेटे के साथ कमरे से सटे बरामदे में सोई थी। पत्नी ने बताया कि, बुधवार की सुबह करीब पांच बजे गोली चलने की आवाज आने पर उसकी नींद टूट गई। उसने कमरे की तरफ देखा तो दरवाजे के पास अजय खून से लथपथ औंधे मुंह फर्श पर पड़े थे। पास ही मृतक की दो नाली बंदूक पड़ी हुई थी।

पहले भी कर चुका था सुसाइड का प्रयास

मृतक अजय मानसिक तौर पर बीमार था। उसका इलाज केजीएमयू के डॉ. अनिल कुमार की देखरेख में चल रहा था। मृतक की पत्‍नी ने बताया कि घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं, अजय ही कमाई का इकलौता सहारा थे। उनके मानसिक बीमारी के चलते नौकरी छूट गई। उन्होंने सप्ताह भर पूर्व जहर खाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया था। उस समय उनका इलाज सिविल अस्पताल से कराया गया था। वहीं, स्थानीय लोगों ने बताया कि अजय व उसकी पत्नी के बीच अक्सर विवाद होता रहता था।

क्या कहना है पुलिस का ?

 

इंस्पेक्टर मड़ियांव संतोष कुमार सिंह ने बताया कि शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। प्रथम दृष्टया मामला सुसाइड का है। मामले की जांच

Related Articles

Live TV
Close