खुले में शौच करने वालों से उगाही कर रहा था बर्खास्त सिपाही, पुल‍िस ने दबोचा

खुले में शौच करने वालों से उगाही कर रहा था बर्खास्त सिपाही, पुल‍िस ने दबोचा

लखनऊ,  खुले में शौच कर रहे दो युवकों को जेल भेजने का खौफ दिखाकर उगाही करने वाले बर्खास्त सिपाही को काकोरी पुलिस नेे गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित फर्जी मार्कशीट लगाकर सिपाही पद पर भर्ती हुआ था।

काकोरी बदबदाखेड़ा निवासी ओम प्रकाश गुरुवार सुबह कलिया खेड़ा निवासी रिश्तेदार प्यारेलाल संग सड़क किनारे खुले में शौच करने गए थे। इसी दौरान एक सिपाही ने दोनों को स्वच्छ भारत मिशन का हवाला देते हुए खुले में शौच करने को कानून जुर्म बताते हुए 25 हजार जुर्माना देने को कहा। जुर्माना न भरने पर जेल भेजने की धमकी दी। उसके बाद 15 सौ लेकर बकाया घर से लाकर देने को कहा। ओम प्रकाश ने धोखाधड़ी की आशंका पर थाने पर इसकी जानकारी की। खुले में शौच पर 25 हजार जुर्माना मांगे जाने की जानकारी पर स्थानीय दारोगा शिवशंकर पटेल मौके पर पहुंचे।

पुलिस के मुताबिक पूछताछ में सामने आया कि कानपुर देहात मंगलपुर के भटेलनपुरवा का रहने वाला शिवकुमार थारू बर्खास्त सिपाही है। जो इसी तरह वर्दी का रौब दिखाकर लोगों से ठगी कर रहा है। शिवकुमार ने पहले खुद को पारा में तैनात होने की बात कही थी, लेकिन पड़ताल में पुष्टि न होने पर पुलिस ने सख्ती की तो पता चला कि वह 2006 में सिपाही पद पर भर्ती हुआ था। 2007 में फर्जी दस्तावेज लगाकर नौकरी हासिल करने की बात सामने आने पर बर्खास्त कर दिया गया था। उस वक्त इटावा में तैनाती के चलते वहां के सिविल लाइन थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया था। इसके आपराधिक इतिहास का पता लगाया जा रहा है।

You Might Also Like