कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्‌डा ने संगठन पदाधिकारियों से की वार्ता; नए प्रदेश अध्यक्ष के नाम पर लग सकती है मुहर

कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्‌डा ने संगठन पदाधिकारियों से की वार्ता; नए प्रदेश अध्यक्ष के नाम पर लग सकती है मुहर

लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद जगत प्रकाश नड्‌डा शुक्रवार को पहली बार दो दिवसीय दौरे पर यहां पहुंचे। नड्डा का अमौसी एयरपोर्ट पर सीएम योगी आदित्यनाथ समेत अन्य भाजपा नेताओं ने स्वागत किया। उनके आगमन को लेकर कई तरह की अटकलें लगायी जा रही हैं। नड्डा इस दौरान उप्र के नए अध्यक्ष के नाम पर अपनी मुहर लगा सकते हैं। वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय के मंत्री बनने के बाद से ही कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही उप्र भाजपा को नया प्रदेश अध्यक्ष मिल सकता है

सीएम योगी ने नड्डा के कार्यों की तारीफ की

भाजपा मुख्यालय में सीएम योगी ने कहा कि, एक सामान्य कार्यकर्ता जिसने एबीवीपी से राजनीति की शुरुआत की, संसदीय बोर्ड ने उसे कार्यकारी अध्यक्ष का दायित्व दिया, यह गौरव की बात है। कहा कि, धैर्य से कैसे काम किया जाता है, जेपी नड्डा इसके उदाहरण हैं। रायबरेली और गोरखपुर में एम्स, वाराणसी में एम्स के समकक्ष संस्थान बनाने का काम, 8 मेडिकल कॉलेजों को सुपर स्पेशिएलिटी में बदलने का काम, लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस देने का काम नड्डा जी ने किया है। चुनाव परिणाम के बाद पूरी दुनिया में देश का गौरव बढ़ा है।

कार्यकारी अध्यक्ष नड्डा शनिवार को वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ पार्टी द्वारा शुरू किए जा रहे सदस्यता अभियान के कार्यक्रम में सम्मलित होंगे।

नए प्रदेस अध्यक्ष के नाम पर चर्चा होने की संभावना
नड्डा लोकसभा चुनाव के दौरान उत्तर प्रदेश के प्रभारी थे। कार्यकारी अध्यक्ष बनाये जाने के बाद यह लखनऊ की उनकी पहली यात्रा होगी। वर्तमान प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पाण्डेय को केंद्रीय मंत्री बनाए जाने के बाद भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के लिए नये नाम को भी इस दौरान संभवत: अंतिम रूप दिया जाएगा। नड्डा ने प्रदेश पदाधिकारियों के साथ बैठक में 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव पर चर्चा की।

राज्य के तीन मंत्रियों ने भी दिया था इस्तीफा
राज्य कैबिनेट के तीन मंत्रियों ने लोकसभा सांसद चुने जाने के बाद मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। इसके अलावा सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के ओम प्रकाश राजभर को कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया गया था।