मौसम विभाग की भविष्यवाणी, UP-दिल्ली व हरियाणा में अगले कुछ घंटों में होगी बारिश

मौसम विभाग की भविष्यवाणी, UP-दिल्ली व हरियाणा में अगले कुछ घंटों में होगी बारिश

दिल्ली के साथ एनसीआर के शहरों नोएडा, गुरुग्राम, गाजियाबाद, फरीदाबाद, सोनीपत और बल्लभगढ़ में मानसून ने कुछ दिन पहले दस्तक तो दे दी है, लेकिन लोगों को झमाझम बारिश का इंतजार अब भी है। ऐसे में अब दिल्ली-एनसीआर के करोड़ों लोगों की यह इच्छा भी जल्द ही पूरी होने जा रही है। दरअसल, मौसम विज्ञान विभाग  ने ताजा भविष्यवाणी की है कि सोमवार को दिल्ली के साथ फरीदाबाद, सोहना, गुरुग्राम, रोहतक, अलीगढ़, हाथरस, बरसाना, मथुरा और राजगढ़ में बारिश होगी।

वहीं, अगले 24 घंटे अन्य राज्यों के लिए भी अहम होने वाले हैं, क्योंकि अगले 24 घंटे में दिल्ली-एनसीआर में झमाझम बारिश का पूर्वानुमान जताया है।  इसके अलावा, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी इस सप्ताह के अंत तक झमाझम बारिश होने का पूर्वानुमान है।

मौसम विभाग के मुताबिक, 8-9 जुलाई तक अधिकतम तापमान 36 और न्यूनतम 25 से 27 डिग्री रह सकता है। दो दिनों के दौरान दिल्ली-NCR क्षेत्र में बादल छाए रहेंगे और मध्यम दर्जे की बारिश हो सकती है। इतना ही नहीं, 10 से लेकर 11 जुलाई तक बादल रहेंगे और हल्की बारिश भी होगी। वहीं, 12-13 जुलाई के तक घने बादल छाए रहेंगे।

इसके अलावा, उत्तर भारत के कई इलाकों में भी भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। IMD के मुताबिक, हिमचाल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश का अनुमान है। इसी के साथ जम्मू-कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली के साथ झारखंड, गुजरात क्षेत्र में झमाझम बारिश हो सकती है।

बता दें कि इस बार प्री मानसून के दौरान बारिश नहीं के बराबर हुई है। जून से जुलाई के बीच 86 फीसद कम बारिश दर्ज की गई है। अब अब 15 जुलाई तक ठीकठाक बारिश होने की उम्मीद जताई जा रही है।

बारिश से गिरेगा तापमान

वहीं, मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) के अनुसार, सोमवार को बारिश के चलते दो से तीन डिग्री की गिरावट के साथ तापमान 33 डिग्री सेल्सियस तक गिर सकता है। बारिश की वजह से उमस से भी छुटकारा मिलेगा। इसके बाद 10 से 13 जुलाई तक हल्की बारिश के आसार हैं। लिहाजा, तापमान फिर 35 से 36 डिग्री तक पहुंचेगा और लोगों को उमस परेशान करेगी।

 

15 जुलाई तक ऐसे ही रहेंगे हालात

उधर स्काईमेट वेदर के अनुसार 15 जुलाई तक दिल्ली-एनसीआर पर मानसून मेहरबान रहेगा। इस दौरान कुछ स्थानों पर हल्की तो कहीं-कहीं मध्यम से भारी बारिश होगी। अलबत्ता, एक जून से दिल्ली में जितनी बारिश अब तक होनी चाहिए थी। उससे 86 फीसद कम बारिश रिकॉर्ड की गई है। इस बीच राजधानी में सिर्फ 12 मिमी बारिश हुई है, जबकि इस दौरान सामान्य बारिश 85 मिमी है।

वहीं, इससे पहले मौसम वैज्ञानिकों ने शुक्रवार को दिल्ली-एनसीआर में मानसून के आगमन की घोषणा कर दी थी। मानसून यहां छह दिन की देरी से पहुंचा है। अधिकारियों की मानें तो आने वाले 10 से 15 दिनों में रुक-रुककर बारिश होने की संभावना है। इसके बाद 10 जुलाई के बाद जोरदार बारिश भी हो सकती है

 

रविवार को भी बूंदाबांदी करके ही चले गए बादल

इससे पहले शनिवार के बाद रविवार को भी बादल छाए रहे, लेकिन बारिश कुछ खास नहीं हुई। रविवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 35.8 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से एक डिग्री कम था। वहीं न्यूनतम तापमान सामान्य स्तर पर 27.6 डिग्री सेल्सियस रहा। उमस का स्तर 60 से 83 फीसद दर्ज किया गया। रविवार को दिल्ली के ज्यादातर इलाकों में बारिश नहीं हुई। सफदरजंग में बूंदाबांदी, जाफरपुर में 3 मिमी और नजफगढ़ में एक मिमी बारिश हुई। दिनभर धूप और बादलों की लुकाछिपी चलती रही। कई बार घने काले बादल दिखाई दिए, लेकिन बरसे बिना ही उड़ गए।

 

मानसून आने के बाद ज्यादा बारिश तो नहीं हुई, लेकिन गर्मी से कुछ राहत मिली है। रविवार को बादल छाने के बाद मौसम थोड़ा सुहाना हुआ तो लोग अपने परिवार के साथ घूमने के लिए भी निकले। यह नजारा दिल्ली के कई इलाकों में देखने को मिला।

You Might Also Like