राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित प्रिंसिपल को पुलिस इंस्पेक्टर ने दी धमकी, एसएसपी से शिकायत

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के बख्शी का तालाब थाना इलाके में राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित प्रधानाचार्य ने पुलिस इंस्पेक्टर के खिलाफ ऐडमिशन से इनकार करने पर धमकी देने की शिकायत दर्ज कराई है। एसएसपी को संबोधित शिकायती पत्र में प्रधानाचार्य ने इंस्पेक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई करने का निवेदन किया है। एसएसपी ऑफिस से मिली जानकारी के मुताबिक, मामले की जांच के लिए एसपी (आरए) को निर्देश दिया गया है।

वॉट्सऐप के जरिए भेजा शिकायती पत्र

घटना जिले के बख्शी का तालाब थाना इलाके की है। क्षेत्र के बीकेटी इंटरमीडिएट कॉलेज के प्रधानाचार्य आरके सिंह तोमर ने स्थानीय थाने के प्रभारी अमरनाथ वर्मा पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह किसी जज साहब का संदर्भ देते हुए एक छात्र के ऐडमिशन की सिफारिश लेकर कॉलेज आए थे। जब उन्होंने प्रवेश बंद होने का हवाला देते हुए ऐडमिशन से इनकार किया तब थाना प्रभारी ने आपा खो दिया और उन्हें अपशब्द कहते हुए बाहर देख लेने की धमकी दी।  प्रधानाचार्य तोमर ने कहा कि उन्होंने इसके बाद वॉट्सऐप के माध्यम से जिलाधिकारी, एसएसपी और एसएसपी (रूरल) को घटना से अवगत कराया और थाना प्रभारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई करने का निवेदन किया है।

धमकी देने से दरोगा का इनकार

वहीं, आरोपी इंस्पेक्टर अमरनाथ वर्मा ने प्रधानाचार्य को धमकी देने की बात से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि वह कॉलेज में ऐडमिशन की प्रक्रिया के बारे में जानकारी लेने के लिए गए थे। उन्हें किसी का ऐडमिशन नहीं कराना था। वर्मा ने कहा, ‘मुझे हाई कोर्ट के किसी सज्जन ने फोन कर कॉलेज में ऐडमिशन की प्रक्रिया के बारे में पूछा था।’ वर्मा के मुताबिक, इसी के बारे में जानकारी के लिए वह कॉलेज गए थे। उन्होंने बताया कि जब उन्होंने प्रधानाचार्य से इस बारे में बात की तो उन्होंने ऐडमिशन से साफ मना कर दिया। दरोगा के मुताबिक, प्रधानाचार्य ने कहा कि जज का लड़का हो या डीएम का, वह ऐडमिशन नहीं करेंगे।

एसपी (आरए) को कार्रवाई का निर्देश

वर्मा ने बताया, ‘मैने जब उनसे कहा कि आप प्रधानाचार्य हैं और आपको ऐसी भाषा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए तो विद्यालय के अध्यापकों ने कहा कि वह अपने टेबल पर हैं तो जैसे चाहें, वैसे बोलेंगे। इसके जवाब में मैंने भी कहा कि मैं भी अपने टेबल पर रहूंगा तो ऐसे ही बोलूंगा।’ प्रधानाचार्य ने बताया कि मामले को लेकर उनकी डीएम से बात हुई है और उन्होंने एसएसपी को कार्रवाई का निर्देश देने का आश्वासन दिया है।

 

राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित हैं प्रधानाचार्य

एसएसपी कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, एसपी (आरए) विक्रांत वीर को मामले की जांच के लिए निर्देश दिया गया है। प्रधानाचार्य द्वारा थाना प्रभारी पर लगे आरोपों की जांच की जा रही है। बता दें कि प्रधानाचार्य आरके सिंह तोमर को साल 2016 में राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। उन्हें तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान के लिए शिक्षक सम्मान से नवाजा था

Related Articles

Live TV
Close