एमबीए में इस साल भी छात्रों का संकट 90 सीटे खाली

एमबीए में इस साल भी छात्रों का संकट 90 सीटे खाली

लखनऊ यूनिवर्सिटी  के एमबीए कोर्स से छात्रों ने दूरी बना ली है। शैक्षिक सत्र 2019-20 में इसकी करीब 90 सीट खाली रहना लगभग तय हो गया है। बुधवार देर शाम तक करीब 450 कैंडीडेट्स ने ही दाखिले के लिए फीस जमा की है। एडमिशन कोऑर्डिनेटर प्रो। अनिल मिश्र ने बताया कि दाखिले की प्रक्रिया में करीब 700 कैंडीडेंट्स शामिल थे। 450 के आसपास फीस जमा हुई है। दोबारा अब मौका देने की संभावनाएं नहीं हैं।

एलयू के दोनों कैंपस में एमबीए कोर्स का संचालन किया जाता है। मेन कैंपस में डिपार्टमेंट ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में संचालित एमबीए कोर्स में करीब 120 सीट हैं। वहीं, जानकीपुरम स्थित द्वितीय परिसर के आईएमएस में एमबीए की 420 सीट हैं। यूनिवर्सिटी के मुख्य परिसर में संचालित एमबीए कोर्स के हालात फिर भी ठीक हैं। सबसे पहले यहां की सीट भरती हैं। साथ ही, छात्रों को प्लेसमेंट भी मिलता है। लेकिन द्वितीय परिसर के आईएमएस की हालत काफी खराब है। छात्रों की शिकायत है कि पढ़ाई होती नहीं है। प्लेसमेंट के लिए भी संस्थान के स्तर पर प्रयास नहीं किए जा रहे हैं।

योग में 168 कैंडीडेट्स आए आगे

यूनिवर्सिटी के योग कोर्स में एडमिशन के लिए करीब 168 कैंडीडेंट्स आगे आए हैं। इनके अलावा, आलिम, दाबिर-ए-माहिर ने 33 कैंडीडेट्स ने आवेदन किया है।