PGI: 14 दिन तक नहीं मिल सका बेड, परिसर में ही तोड़ा दम

लखनऊ,  पीजीआइ में पति के इलाज के लिए भटकती रही। ओपीडी से लेकर इमरजेंसी तक दौड़ लगाई। मगर, बेड नहीं मिल सका। 14 दिन तक वह परिसर में कराहता रहा। आखिर में शुक्रवार रात को उसकी मौत हो गई, परिजनों ने हंगामा किया।

 

बिहार के मुजफ्फरपुर निवासी विमल (78) की आहार नाल में दिक्कत थी। प8ी अर्चना व परिजन उन्हें 29 जून को लेकर एसजीपीजीआइ पहुंचे। यहां ओपीडी में दिखाया। गैस्ट्रो सर्जरी के डॉक्टर ने आहार नली में कैंसर की आशंका व्यक्त की। इसके लिए जांचें लिख दीं। वहीं अर्चना ने डॉक्टरों से भर्ती कर इलाज की फरियाद की। मगर बेड न होने का हवाला देकर लौटा दिया गया। विमल की हालत बिगड़ती गई। प8ी अर्चना कई बार भर्ती के लिए इमरजेंसी पहुंची, मगर यहां बेड फुल बताकर हर रोज लौटा दिया जाता है।

पीजीआइ के सीएमएस डॉ. अमित अग्रवाल ने बताया कि मरीज ने ओपीडी में दिखाया था। शाम को इमरजेंसी में ब्रॉट डेड लाया गया था। वह डेथ सर्टिफिकेट की मांग कर रहे थे। डॉक्टरों ने बगैर भर्ती सर्टिफिकेट देने से मना कर दिया। जिस पर परिजनों ने हंगामा किया।

Related Articles

Live TV
Close