मुंबई में भारी बारिश, महालक्ष्‍मी एक्‍सप्रेस में 2000 यात्री फंसे, मदद के लिए पहुंची NDRF

मुंबई, भारी बारिश के कारण मुंबई एक बार फिर पानी-पानी हो गई है। लगातार हो रही बारिश से कई इलाकों में पानी भर गया है। मौसम विभाग ने शनिवार को भारी भारिश की चेतावनी जारी की है। बारिश की वजह से 7 उड़ानें रद कर दी गई है, जबकि 7-8 फ्लाइट्स का रूट डायवर्ट किया गया है। वहीं ट्रैक पर पानी भरने के कारण महालक्ष्मी एक्सप्रेस में 2 हजार यत्री फंस गए हैं। ट्रेन में फंसे यात्रियों को सुरक्षित निकालने के लिए मौके पर एनडीआरएफ की टीम पहुंच गई है।

भारी बारिश और ट्रैक पर पानी भरने के कारण बदलापुर और वानगनी के बीच महालक्ष्मी एक्सप्रेस फंस गई है। ट्रेन में लगभग 2000 यात्री मौजूद हैं। आरपीएफ और सिटी पुलिस की टीमे घटनास्थल पर पहुंची गई हैं और फंसे हुए यात्रियों को बिस्किट और पानी वितरित किया जा रहा हैं।

मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी ने महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे यात्रियों से अनुरोध करते हुए कहा है कि वे ट्रेन से नीचे न उतरें। ट्रेन ही सबसे सुरक्षित स्थान है। NDRF और अन्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरणों के निर्देश की प्रतीक्षा करें।

मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में भारी बारिश से जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है। मौसम विभाग ने मुंबई में अगले 24 घंटे में भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना जताई है। भारी बारिश के कारण मौसम विभाग ने कई इलाकों में ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया है। पिछले 24 घंटों के दौरान 150-180 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है।

राजधानी मुंबई समेत ठाणे और रायगढ़ में भारी बारिश की संभावाना है। इसके पहले 26 और 28 जुलाई के लिए पालघर में रेड अलर्ट जारी किया जा चुका है। बता दें कि मॉनसून की विभिन्न स्थितियों के लिए रेड से लेकर ऑरेंज तक अलग-अलग अलर्ट जारी किए जाते हैं। इनमें ऑरेंज अलर्ट अधिकारियों को गंभीर स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने का सिग्नल होता है।

लोगों को सतर्क रहने के निर्देश

मौसम विभाग ने भारी बारिश की आशंका के चलते लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा है। क्योंकि ऐसी परिस्थिति में पुराने ढांचों या मकान की दीवार ढहने की घटना से इनकार नहीं किया जा सकता। बता दें कि राज्य में बीते दिनों दीवार गिरने की वजह से कई लोग घायल हो गए थे। ऐसे हादसे में कई लोगों की जान भी चली गई थी।

Related Articles

Live TV
Close