मुख्यमंत्री योगी के हाई अलर्ट के बावजूद गंज में लहराए गए  असलहे

मुख्यमंत्री योगी के हाई अलर्ट के बावजूद गंज में लहराए गए असलहे

सीएम योगी आदित्यनाथ मंगलवार को लोक भवन में बैठक कर रहे  थे तभी करीब रात 8.30 बजे उनकी फ्लीट का अलर्ट जारी हुआ। इस दौरान  हजरतगंज चौराहे पर सादे कपड़ों में एसयूवी कार  सवार कन्नौज पुलिस ने फिल्मी अंदाज में कार को ओवरटेक कर रोक दिया कार में  सवार इंटर कॉलेज के प्रबंधक को निशाना बनाने  की कोशिश की गयी  परिवार ने इसका विरोध किया तो एक व्यक्ति ने पिस्तौल महिला के सीने पर सटाकर गोली मारने की धमकी दी।

इसके बाद भी वह पीछे नहीं हटी। यह नजारा देख भीड़ जुट गई। इस पर एसयूवी सवारों ने अपनी पहचान कन्नौज पुलिस के दरोगा और सिपाही के रूप में दी।पुलिसकर्मी खुलेआम असलहे लहराने लगे। हंगामा इतना भयानक  था कि  लोग जुट गए।इसकी सूचना पुलिस को दी गयी मौके पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षों को थाने लेकर पहुची । वहां पता चला कि कॉलेज प्रबंधक दुष्कर्म का आरोपी है।  उन पर  25 हजार रुपये का इनाम भी है। कन्नौज पुलिस के अधिकारियों से बातचीत करने के बाद आरोपी प्रबंधक को टीम के सुपुर्द कर दिया गया।

दर्ज हुआ था दुष्कर्म का मुकदमा

प्रभारी निरीक्षक हजरतगंज राधारमण सिंह के मुताबिक कन्नौज बालिका इंटर कॉलेज के प्रबंधक दिनेश गुप्ता पर 18 जून को छात्रा से दुष्कर्म करने का मुकदमा सौरिख थाने में दर्ज हुआ था।
सौरिख थाने के एसएसआई बृजभान सिंह के अनुसार दिनेश की गिरफ्तारी को सर्विलांस का सहारा लिया गया था। जाच  में स्कूल मैनेजर के लखनऊ में मौजूद होने की खबर मिली थी। इस पर मंगलवार को टीम राजधानी पहुंची थीं।

आगे पढ़ें

आत्मसमर्पण करने की फिराक में था

दिनेश गुप्ता पुलिस से बचकर भाग रहा था। दिनेश शर्मा ने  कोर्ट में आत्मसमर्पण करने  की अर्जी भी डाली थी। कन्नौज पुलिस को सूचना मिली थी कि बुधवार को वह आत्मसमर्पण कर सकता है। इस कारण वह किसी भी तरह उसे गिरफ्तार करना चाहती थी।

You Might Also Like