प्रधानमंत्री मोदी 20वें भारत-रूस वार्षिक सम्मेलन में हिस्सा लेने रूस पहुचे ,उन्होंने मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद से की मुलाकात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20वें भारत-रूस वार्षिक सम्मेलन में हिस्सा लेने  रूस गए ।  उन्होंने गुरुवार को मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद से की  मुलाकात । इस दौरान दोनों नेताओं के बीच  मुस्लिम धर्म गुरु जाकिर नाइक  के प्रत्यर्पण को लेकर चर्चा भी हुई। विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि जाकिर  को भारत वापस लाने का  मुद्दा हमारे लिए अहम है।

जाकिर नाइक पर  भारत में मनी लॉन्ड्रिंग के मामलों और आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा देने का आरोप है। 2016 में  जाकिर भारत छोड़कर मलेशिया चला गया था। जाकिर के प्रत्यर्पण के लिए भारत लगातार मलेशिया के संपर्क में है और उसे वापस लाने के लिए कई बार मलेशिया से मांग कर चुका है। द्विपक्षीय मुलाकात के दौरान मोदी और महातिर के बीच आपसी सहयोग बढ़ाने पर भी बातचीत हुई।

मलेशिया सरकार ने अगस्त में जाकिर के किसी भी नस्लीय और राजनीतिक कार्यक्रम में शामिल होने और भाषण देने पर रोके लगा दी गये थी । जाकिर नाइक ने एक भड़काऊ भाषण दिया था। उसने कहा था कि मलेशिया में हिंदुओं को भारत के मुस्लिमों के मुकाबले 100 गुना ज्यादा अधिकार मिले हैं।

इसके बाद मलेशिया के गृह मंत्री मुहीद्दीन यासिन ने कहा था कि देश में कानून से ऊपर कोई भी नहीं है। प्रधानमंत्री महातिर ने 20 अगस्त को कहा था कि जाकिर को 2015 से मलेशिया में स्थायी निवासी का दर्जा मिला है। अगर वह देश को नुकसान पहुंचाने वाले कार्यों में लिप्त मिला तो यह दर्जा वापस लिया जा सकता है।

Related Articles

Live TV
Close