मिशन 2019: बिहार में युवा मतदाताओं को रिझाने में जुटा जदयू, जानिए प्‍लान

मिशन 2019: बिहार में युवा मतदाताओं को रिझाने में जुटा जदयू, जानिए प्‍लान

 लोकसभा चुनाव-2019 की तैयारी के क्रम में बिहार में जदयू की ओर से छात्रों एवं युवाओं को रिझाने के लिए उन पर विशेष ध्यान केंद्रित किया जा रहा है। प्रदेश के 18-25 आयु वर्ग के करीब 15.5 फीसद मतदाताओं को देख पार्टी ने यह कदम उठाया है। ‘सात निश्चय’ में युवाओं के लिए शामिल कार्यक्रमों को नई पीढ़ी के बीच जनसंपर्क में लगातार मुद्दा बनाया जा रहा है। 11 अक्टूबर को पटना में बापू सभागार में जदयू छात्र प्रकोष्ठ का राज्यस्तरीय सम्मेलन आयोजित किया जाएगा।

चुनावी तैयारी में जुटे विभिन्‍न प्रकोष्‍ठ

केवल छात्र प्रकोष्ठ ही नहीं, पार्टी के कई और प्रकोष्ठ भी चुनावी तैयारी में जुट गए हैं। अगस्त के प्रथम सप्ताह से युवा जदयू के प्रदेश अध्यक्ष अभय कुशवाहा जिलों के दौरे पर निकलेंगे। इस प्रकोष्ठ ने हर पंचायत में पांच-पांच युवाओं को संगठन में शामिल कराने का अभियान आरंभ किया है।

वहीं, जदयू के राष्ट्रीय महासचिव आरसीपी सिंह विभिन्न जिलों में अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ का सम्मेलन आयोजित कर रहे हैं। सम्मेलन से ठीक पहले वह रोड-शो भी कर रहे हैं। यह कार्यक्रम 22 अगस्त तक चलेगा।

पंचायत में एक सक्रिय सदस्य चिह्नित

पार्टी मुख्यालय प्रभारी अनिल कुमार के मुताबिक, हर पंचायत में एक-एक सक्रिय सदस्य को चिह्नित किया जा रहा है। इन्हें बूथ स्तर तक संगठन को सुदृढ़ करने की जिम्मेदारी दी जाएगी। अभी पार्टी के 1.51 लाख सक्रिय सदस्य हैं, और हर पंचायत में करीब 8-10 बूथ हैं।

दस बूथ पर एक ‘जागृत केंद्र’

छात्रों एवं युवाओं पर विशेष ध्यान केंद्रित करने के उद्देश्य से ही जहां युवा जदयू के प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी पार्टी विधायक अभय कुशवाहा को दी गई है, वहीं छात्र जदयू का प्रभारी पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व महासचिव प्रो. रणवीर नंदन को सौंपी गई है। प्रो. नंदन पार्टी के कोषाध्यक्ष के साथ-साथ एमएलसी भी हैं। उन्होंने बताया कि सभी विधानसभा क्षेत्रों में दस बूथ पर एक ‘जागृत केंद्र’ बनाया जा रहा है। जागृत केंद्रों के माध्यम से मतदाताओं के बीच जनसंपर्क अभियान चलाया जाएगा। उन्हें युवाओं के लिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रमों के साथ-साथ उनकी समस्याओं पर भी नजर रखी जाएगी। यह सुनिश्चित किया जाएगा कि उनके नाम मतदाता सूची में शामिल रहने से छूट न जाएं।

पंचायत में एक महिला कार्यकर्ता चिह्नित

इस बीच, जदयू की समाज सुधार वाहिनी ने हर पंचायत में एक-एक महिला कार्यकर्ता चिह्नित करने की मुहिम शुरू कर दी है। इनके माध्यम से दहेज प्रथा एवं बाल विवाह के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा। सामाजिक सरोकार के इन कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों तक पार्टी की पहुंच बढ़ानी की कोशिश होगी। महादलित प्रकोष्ठ के नेताओं का भी जिलों में दौरा आरंभ हुआ है।

You Might Also Like