बिहार में भोजपुरी सिने स्टार अक्षरा सिंह पर फर्जीवाड़ा का मुकदमा, जानिए मामला

बिहार में भोजपुरी सिने स्टार अक्षरा सिंह पर फर्जीवाड़ा का मुकदमा, जानिए मामला

भोजपुरी सिने स्टार अक्षरा सिंह के खिलाफ बिहार के खगडि़या में फर्जीवाड़ा का मुकदमा दर्ज किया गया है। मुकदमा बीते आठ जुलाई को स्‍थानीय जेएनकेटी मैदान में अपने कार्यक्रम में नहीं आने तथा इस कारण हुई तोड़फोड़ से क्षति को लेकर किया गया है। अक्षरा सिंह के कार्यक्रम में टेंट समेत अन्य समान उपलब्ध कराने वाले टेंट हाउस के प्रोपराइटर शुभम कुमार ने यह मुकदमा दर्ज कराया है। 
मालूम हो कि आठ जुलाई को जेएनकेटी मैदान में आयोजित ‘एक शाम शहीद किशोर कुमार मुन्ना के नाम’ कार्यक्रम में अक्षरा सिंह के नहीं आने पर आक्रोशित दर्शकों ने स्टेज में आग लगा दी थी। जेनरेटर को फूंक दिया था। कार्यक्रम का आयोजन बेगूसराय जिले के टिंकू जिया ने किया था। 
मुकदमा करने वाले शुभम कुमार ने आरोप लगाया है कि टिंकू जिया ने अक्षरा सिंह से मोबाइल पर बातचीत कराई कि वे कार्यक्रम में आ रही हैं। इसके बाद उसने टेंट व अन्य सामान बुक किए। अक्षरा ने भी अपना वीडियो वायरल किया, जिसमें खगडिय़ा के लोगों से कार्यक्रम में आने की अपील की गई थी। आयोजक द्वारा टिकट  काटे गए थे। आयोजक ने एसडीएम से भी अनुमति ली थी। निर्धारित तिथि को अक्षरा सिंह को देखेन-सुनने के लिए क्षमता से अधिक दर्शक मैदान में जुटे थे। लेकिन, देर रात तक लब अक्षरा नहीं आईं, तो दर्शक आक्रोशित हो उठे। दर्शकों ने मंच को आग के हवाले कर दिया। इससे 25 लाख का नुकसान हुआ। 

इस मामले में भोजपुरी सिने स्टार अक्षरा सिंह ने अपने को  निर्दोष बताया है। उनके अनुसार आठ जुलाई की रात्रि में ही एक वीडियो जारी कर अपने को निर्दोष बताते हुए उन्‍होंने आयोजक टिंकू जिया पर दोष मढ़ा था। वीडियो में उन्होंने कार्यक्रम को लेकर हुए अनुबंध की राशि टिंकू जिया द्वारा नहीं देने का  उल्लेख किया था। 
अक्षरा के अनुसार वे समय पर प्लेन से पटना पहुंच गईं, लेकिन वहां से ले जाने के लिए टिंकू जिया ने न तो गाड़ी भेजी और न ही फोन रिसीव किया। लड़की होने के कारण वे अकेले खगडिय़ा नहीं जा सकीं। इसलिए उसी रात पटना से अपना एक वीडियो वायरल कर मुंबई लौट गईं।

You Might Also Like