जेटली ने महंगाई व घाटे पर कांग्रेस को दिया जवाब

जेटली ने महंगाई व घाटे पर कांग्रेस को दिया जवाब

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने जीडीपी की बैक सीरिज के आंकड़ों में संप्रग शासन में एक साल विकास दर 10 प्रतिशत से ऊपर जाने का अनुमान सामने के बाद सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस को करारा जवाब दिया है। जेटली ने संप्रग शासन में बेलगाम महंगाई दर और बेकाबू घाटे का हवाला देकर कांग्रेस को आईना दिखाया है। जेटली ने कहा कि संप्रग के कार्यकाल में जो महंगाई दर बढ़कर दहाई के अंक में पहुंच गई थी उस पर अब काबू पा लिया गया है।

जेटली ने यह भी कहा कि बीते चार साल में वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती के बावजूद भारत ने तेज आर्थिक वृद्धि दर हासिल की है और तीव्र विकास दर के मामले में चीन को पछाड़ दिया है।

जेटली ने फेसबुक पर लिखे पोस्ट में संप्रग सरकार के दौरान अर्थव्यवस्था में महंगाई दर, चालू खाते के घाटे, राजकोषीय घाटे और बैंक कर्ज में वृद्धि के आंकड़ों का तुलनात्मक विश्लेषण करते हुए कहा कि संप्रग शासन में राजकोषीय अनुशासन से समझौता किया गया और बैंकिंग तंत्र को सोचे समझे बगैर ही उधार बांटने को कहा गया। इस तथ्य को भी नजरंदाज कर दिया गया कि ऐसा करने से बैंकों का जोखिम बढ़ जाएगा।
जेटली ने कहा कि संप्रग-1 सरकार जब 2004 में सत्ता में आई उस समय वाजपेयी सरकार 8 प्रतिशत विकास दर विरासत में छोड़कर गई थी। उसे 1991 से 2004 तक जारी रखे गए सुधारों का लाभ भी मिला। हालांकि संप्रग-1 के कार्यकाल में कोई भी महत्वपूर्ण घरेलू सुधार नहीं किया गया। इसका नतीजा यह हुआ कि विकास दर गिरने लगी और संप्रग-2 के अंतिम तीन वर्षों में विकास दर काफी कम रही।

You Might Also Like