कोसी नदी में फंसा आइटीबीपी का पूर्व जवान, पांच घंटे बाद निकाला

कोसी नदी में फंसा आइटीबीपी का पूर्व जवान, पांच घंटे बाद निकाला

पर्वतीय क्षेत्रों में लगातार बारिश लोगों के लिए मुसीबत बनती जा रही है। कोसी नदी में फंसी तीन गायों को बचाने का प्रयास कर रहे  आइटीबीपी के पूर्व जवान की जान पर बन आई। वह नदी के तेज प्रवाह के बीच एक पत्थर में फंस गया। बामुश्किल पांच घंटे बाद रेस्क्यू कर उसे सकुशल बाहर निकाला गया। 

अल्मोड़ा हल्द्वानी हाईवे पर अतिसंवेदनशील लोहाली की पहाड़ी के ठीक नीचे ज्याड़ी गांव (ताड़ीखेत ब्लॉक) निवासी चंदन सिंह की तीन गाय एकएक जल स्तर बढ़ने से कोसी नदी के बीच में फंस गई। ग्रामीणों ने अल्मोड़ा स्थित आपदा नियंत्रण कक्ष में इसकी सूचना दी। 

इस पर आपदा प्रबंधन, फायर ब्रिगेड तथा एसडीआरएफ की 21 सदस्यीय दल मौके पर पहुंचा। पानी का बहाव काफी तेज होने के कारण रेस्क्यू सफल न हो सका। 

सायं करीब पांच बजे ज्याड़ी गांव (ताड़ीखेत ब्लॉक) का ही आइटीबीपी का पूर्व जवान कैलाश नेगी ने रेस्क्यू टीम की मदद के लिए गायों को बचाने के मकसद से नदी में उतरने का निर्णय लिया। 

दरअसल, आइटीबीपी का यह अवकाश प्राप्त जवान स्थानीय है और उसे कोसी के बहाव व गहराई की ठीक ठीक जानकारी भी है। वहीं, वह गोताखोरी में भी निपुण बताया जा रहा था।

You Might Also Like