अभी एक साल और उत्तर कोरिया नहीं जाएंगे अमेरिकी, प्रतिबंध की अवधि बढ़ी

अभी एक साल और उत्तर कोरिया नहीं जाएंगे अमेरिकी, प्रतिबंध की अवधि बढ़ी

सिंगापुर में ऐतिहासिक शिखर सम्मेलन के बाद भी अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच रिश्ते सुधरने के बजाय बिगड़ते ही जा रहे हैं। अब अमेरिका ने उत्तर कोरिया को लेकर फिर से कार्रवाई करते हुए अपने नागरिकों के उत्तर कोरिया जाने पर प्रतिबंध की अवधि को और एक साल के लिए बढ़ा दिया है। बता दें कि पिछले वर्ष लगाए गए प्रतिबंध की अवधि 1 सितंबर को खत्म हो रही थी जो अब अगले साल 31 अगस्त को खत्म होगी।

विदेश विभाग ने चेतावनी देते हुए कहा कि नियमों को तोड़ने वाले किसी भी अमेरिकी नागरिक को आपराधिक दंड का सामना करना पड़ सकता है और उनके पासपोर्ट निरस्त हो सकते हैं। 22 वर्षीय अमेरिकी छात्र ओटो वार्मबेयर की मृत्यु के बाद सितंबर 2017 में यह प्रतिबंध लागू हुआ था। ओटो को वर्ष 2016 में प्‍योंगयांग में गिरफ्तार कर लिया गया था। जून में रिहाई के बाद वह अपने परिवार के पास पहुंचा लेकिन कोमा में था और कुछ ही दिनों बाद उसकी मौत हो गई। उसके मौत के पीछे का कारण स्पष्ट नहीं हो सका।

हालांकि अमेरिकी विदेश विभाग ने प्रतिबंध के ऐलान के साथ ही यह भी कहा है कि, विशेष उद्देश्य से उत्तर कोरिया जाने वालों को ‘विशेष सत्यापन’ वीज़ा के लिए आवेदन करना होगा और तभी वे वहां जा सकते हैं। विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा, ‘विदेशों में अमेरिकी नागरिकों की सुरक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है।’

उत्तर कोरिया सहित चाड, ईरान, सोमालिया, सीरिया, वेनेजुएला और यमन जैसे देशों में भी अमेरिका प्रतिबंध लगा चुका है।

You Might Also Like