किम जोंग को सौंपा जाएगा मून का पत्र, खत्म होगा परमाणु गतिरोध

किम जोंग को सौंपा जाएगा मून का पत्र, खत्म होगा परमाणु गतिरोध

उच्च स्तरीय दक्षिण कोरियाई प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को अधिकारियों के साथ वार्ता की। इस बैठक के दौरान, इस वर्ष तीसरे अंतर-कोरियाई शिखर सम्मेलन की व्यवस्था करने और परमाणु वार्ता में गतिरोध खत्म करने की मांग उठी। बता दें कि राष्ट्रपति मून जे-इन के विशेष दूत चुंग यूई-योंग इस पांच सदस्यी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे हैं।

चुंग यूई-योंग ने कहा, ‘वे कोरियाई प्रायद्वीप पर पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण और स्थायी शांति स्थापित करने के तरीकों पर चर्चा करने की योजना बना रहे हैं।’ इस बीच सियोल में राष्ट्रपति कार्यालय के प्रवक्ता ने वार्ता शुरू होने की पुष्टि की है, हालांकि विवरण प्रदान नहीं किया।

बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग उन ने कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु निरस्त्रीकरण की दिशा में काम करने के लिए जून में ऐतिहासिक शिखर बैठक की थी, जिसमें दोनों नेता सकारात्मक समझौते पर पहुंचे। जिसके बाद से टकराव की स्थिति कम देखने को मिली है। हालांकि, मामला तक बिगड़ता हुआ दिखा जब पिछले महीने कार्य में प्रगति की कमी का हवाला देते हुए ट्रंप ने विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ का उत्तर कोरिया दौरा अचानक रद कर दिया।

बताया जा रहा है कि दक्षिण कोरियाई प्रतिनिधिमंडल का उद्देश्य इस महीने के अंत में तीसरे शिखर सम्मेलन की रूपरेखा तय करना है, जहां दोनों कोरियाई देशों के नेता मिलेंगे। लेकिन पर्यवेक्षकों ने कहा कि चुंग राष्ट्रपति मून का व्यक्तिगत पत्र किंम को सौंपेंगे। माना जा रहा है कि परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर कोई प्रस्ताव पेश किया जा सकता है। हालांकि उन्होंने मून के पत्र के ब्योरे का खुलासा नहीं किया है।

इस बीच चुंग ने कहा कि उनका देश अमेरिका के साथ मिलकर 1950-53 के कोरियाई युद्ध की समाप्ति को लेकर इस वर्ष एक संयुक्त घोषणा पत्र जारी किये की जाने कोशिश को जारी रखेगा। बता दें कि दोनों देशों के शीर्ष नेताओं की तीसरी बैठक इस महीने होने वाली है।

You Might Also Like