यूपी में SC/ST एक्ट के विरोध में मैनपुरी में ट्रेन रोकी गई, वाराणसी में हाई-वे पर आगजनी

यूपी में SC/ST एक्ट के विरोध में मैनपुरी में ट्रेन रोकी गई, वाराणसी में हाई-वे पर आगजनी

लखनऊ । एससी/एसटी एक्ट के खिलाफ उत्तर प्रदेश में बड़ी संख्या में लोग लामबंद हैं। आज इसका प्रदेश के पश्चिमी तथा पूर्वी क्षेत्र में जोरदार विरोध हो रहा है। लखनऊ में भारत बंद का आंशिक असर है। उधर महानगरों में पुलिस इस बड़े विरोध के कारण हाईअलर्ट पर है।भारत बंद को लेकर यूपी के गृह विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए कई जिलों में धारा 144 लगा दी गई है। जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षकों को प्रदर्शन और बंद पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं।

प्रदेश के मैनपुरी तथा आगरा में लोक इस एक्ट के विरोध में रेलवे ट्रैक पर उतर गए। दोनों जगह ट्रेन को रोका गया है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी इस एक्ट का जोरदार विरोध हो रहा है। एक्ट में किए गए संशोधन को वाराणसी के बीएचयू के हैदराबाद गेट के पास चक्काजाम और आगजनी की गई है। इलाहाबाद-पटना हाईवे पर वाराणसी में डाफी पर चक्का जाम के बाद लोगों ने जगह-जगह टायर फूंककर आगजनी की गई है। केंद्र सरकार के एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में आज प्रदेश में इसका विरोध करने वाले लोग सड़क पर हैं। इसके विरोध में जगह-जगह पर बंद का आयोजन किया गया है। मैनपुरी में विरोध कर रहे लोगों ने ट्रेन को रोक दिया है। उधर महानगरों में पुलिस इस बड़े विरोध के कारण हाईअलर्ट पर है।

रोका है। यहां पर मोटा रेलवे स्टेशन, भोगांव पर एक दर्जन से अधिक लोगों ने ट्रैक पर फर्रुखाबाद -शिकोहाबाद पैसेंजर ट्रेन को रोक लिया है। यहां पर बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी इंजन पर चढ़ गए और जमकर नारेबाजी की। ट्रेन इस दौरान 45 मिनट खड़ी रही। इसके बाद पुलिस ने बमुश्किल प्रदर्शनकारियों को समझाया, तब कहीं जाकर ट्रेन रवाना हो सकी। इस प्रदर्शन में आधा दर्जन से ज्यादा से गांव के लोग शामिल थे।

भारत बंद का असर कई जिलों में देखने को मिल रहा है। आगरा के साथ मैनपुरी में प्रदेशनकरियों ने ट्रेन रोक दी। इटावा डीएमयू ट्रेन को थाना पिनाहट इलाके में भदरौली के पास रोका गया है। आगरा जिले में बंद को देखते हुए निजी स्कूलों की छुट्टी कर दी गई है। कलेक्ट्रेट के आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई है। डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा का दौरा भी रद हो गया है। यहां पर अधिवक्ता संघ ने बंद का समर्थन किया है।

औरैया जिले में एससीएसटी एक्ट के विरोध में सवर्ण समाज के संगठनों ने बाजार बंद करा दिया। जिले में भारत बंद असर दिख रहा है। औरैया तहसील में पूरी तरह बंद है। व्यापार मंडल व सवर्ण समाज ने जुलूस निकालकर विरोध जताया है।

भदोही में भी भारत बंद को लेकर पुलिस अलर्ट पर है। प्रमुख बाजारों में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। रेलवे स्टेशन पर भी अतिरिक्त पुलिस फोर्स लगाई गई है। एटा में भी सवर्ण समाज के साथ पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों ने भी बंद का समर्थन किया है। औरैया में भी इस एक्ट के विरोध में सवर्ण समाज के संगठनों ने बाजार बंद किया है। जिले में दिबियापुर, औरैया तहसील में जबरदस्त बंद है। इसके साथ व्यापार मंडल व सवर्ण समाज ने जुलूस निकालकर विरोध जताया है। बंदी के कारण सन्नाटा पसरा है। यहां पर व्यापारियों ने बाजार बंद कर विरोध प्रदर्शन किया एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के साथ ही केंद्र सरकार के अध्यादेश लाने के विरोध में स्वर्णो ने भारत बंद का एलान किया है। भारत बंद को देखते हुए जिला मुख्यालय पर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई।
अलीगढ़ में एससी-एसटी एक्ट के विरोध में बंद का हाथरस व अलीगढ़ में मिला जुला असर रहा। अलीगढ़ में कुछ दुकानें खुली हैं तो कुछ बंद है। सुबह कई बाजार पूरी तरह बंद थे। प्रदर्शन की संभावना के चलते  सांसद के कार्यालय पर पुलिस तैनात है। जिले के अकराबाद, इगलास में बंद सफल है। हाथरस शहर में बंद मिला जुला है। चक्किबाजार में व्यापारियों ने प्रदर्शन किया। सिकन्दराराऊ में धरना दिया गया। सादाबाद के डाकखाना रोड पर लोगों ने प्रदर्शन किया। सहपऊ, सासनी व मुरसान में अधिकांश दुकानें अभी बंद हैं।
आगरा में एससी/एसटी एक्ट के विरोध में आयोजित भारत बंद के दौरान खंदौली कस्बा में यमुना एक्सप्रेस वे पर ग्रामीणों ने जाम लगाया। वाहनों की कतार लगी। आगरा मंडल के आगरा, मथुरा, फिरोजाबाद, मैनपुरी और अलीगढ़ मंडल के एटा, कासगंज में भारत बंद का मिलाजुला असर दिखाई दे रहा है। कारोबारियों ने स्वेच्छा से ही अपने प्रतिष्ठानों को बंद रखा है। आगरा के कस्बा पिनाहट के भदरौली रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शनकारियों ने पैसेंजर ट्रेन रोककर प्रदर्शन किया। उधर मैनपुरी में भोगांव के मोटा स्टेशन पर भी ट्रेन रोके जाने की सूचना है। फीरोजाबाद और टूंडला में व्यापारियों ने जलूस निकाल सरकार विरोधी नारे लगाए। बंद शांतिपूर्ण ढंग से स्वतःस्फूर्त चल रहा है। फिलहाल कहीं से कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं है।
एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में तमाम सवर्ण संगठनों ने आज भारत बंद बुलाया है। जिसके मद्देनजर राजधानी लखनऊ समेत मेरठ, वाराणसी, आगरा, गोरखपुर, बरेली तथा इलाहाबाद को हाईअलर्ट पर रखा गया है। सूबे में इसी वर्ष दो अप्रैल को एससी/एसटी में बदलाव को लेकर दलितों ने भारत बंद बुलाया था। उस दौरान जमकर हिंसा, आगजनी और तोडफ़ोड़ हुई थी। इसी को लेकर हर जगह पर प्रशासन ने सभी जिलों को सतर्क रहने को कहा है। इलाहाबाद के साथ वाराणसी, आजमगढ़, गोरखपुर, कानपुर, आगरा, मथुरा, मेरठ, हापुड़, कासगंज व मुजफ्फरनगर समेत तमाम जिलों के पुलिस कप्तानों को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिया गया है। लखनऊ में प्रशासन हाई अलर्ट पर है। यहां हजरतगंज सहित तमाम जगहों पर फोर्स तैनात है। वाराणसी में सवर्णों के भारत बंद के आह्वान पर आधा दर्जन से अधिक संगठन सड़कों पर उतर गए हैं। बीएचयू के हैदराबाद गेट को लोगों ने जाम कर दिया। यहां पर तो हर चौराहे पर फोर्स की तैनाती की गई है।
लखनऊ में एससी-एसटी एक्ट के खिलाफ भारत बंद को लेकर राजधानी में आंशिक असर नजर आया। शहर के कई प्रमुख बाजारों में साप्ताहिक बंदी होने के चलते दुकानें नहीं खुली वहीं दूसरे बाजारों में अधिकतर दुकानें खुली रहीं। सरकारी कार्यालयों और निजी प्रतिष्ठानों में भी बंदी का कोई खास असर नजर नहीं आया। सरकारी कार्यालयों में उपस्थित करीब-करीब सामान्य रही और स्कूल-कॉलेज भी खुले। प्रशासन ने किसी तरह के उपद्रव को रोकने के लिए पहले से ही विधानसभा और उसके आसपास धारा 144 लगा रखी है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा का कहना है स्थिति पूरी तरह सामान्य है।

You Might Also Like