अमेरिका ने लौटाई चुराई गई भगवान शिव की ऐतिहासिक मूर्तियां

अमेरिका ने लौटाई चुराई गई भगवान शिव की ऐतिहासिक मूर्तियां

वाशिंगटन : सालों पहले भारत से भगवान शिव की दो ऐतिहासिक मूर्तियां चोरी हो गई थी जिसे अब लौटा दिया गया है. कहा जा रहा है अमेरिका ने इसे वापस कर दिया है. ये मूर्तियां बहुत ही प्राचीन काल की हैं जिनकी कीमत आज लाखों रूपए में हैं. ये मूर्तियां चोल काल की बताई जा रही हैं जिन्हें बेहद ही खास माना जा रहा है. इतना ही नहीं चुराई गई इन मूर्तियों को अमेरिका के दो संग्रहालयों में भी प्रदर्शित किया जा चुका है. 

इसमें पहली मूर्ति लिंगोधभवमूर्ति 12वीं सदी की है. भजन शिव की ये मूर्ति ग्रेनाइट से बनी हुई है और अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत 2.25 लाख डॉलर बताई गई है वहीं दूसरी मूर्ति की कीमत 2.75 लाख डॉलर बताई गई है. आपको बता दें, ये मूर्तियां तमिलनाडु से चुराई गई थी जिसके बाद बर्मिंघम संग्रहालय में प्रदर्शित भी किया गया था. दूसरी मूर्ति के बारे में बता दें, ये मूर्ति बोधिसत्व मंजूश्री की है जिसके हाथ में तलवार है और मूर्ति पर स्वर्ण रंग रंगा हुआ है. 12वीं सदी की इस फिलाइट मूर्ति को 1980 के दशक में बिहार के बोधगया के समीप के एक मंदिर से चुराया गया था. 

दोनों ही मूर्तियों को संग्राहलयों में प्रदर्शित किया जा चुका है और दूसरी वाली मूर्ति को नार्थ कैरोलीना यूनिवर्सिटी के आकलैंड आर्ट संग्रहालय में प्रदर्शित किया था जिसे वहीं से हासिल किया गया है. ये मूर्तियां मंगलवार को न्यूयार्क में वाणिज्य दूतावास में एक कार्यक्रम में भारत के महावाणिज्य दूत संदीप चक्रवर्ती को मैनहट्टन जिला आर्टनी साइरस वेंस जूनियर ने सौंपीं. ये खबर ख़ुशी की है कि भारत की धरोहर फिर से देश के पास वापस आ चुकी है.

You Might Also Like