सवर्णों का आक्रोश देख भाजपाई ने कहा – इससे पार्टी को नुकसान, सरकार को सोचना होगा

सवर्णों का आक्रोश देख भाजपाई ने कहा – इससे पार्टी को नुकसान, सरकार को सोचना होगा

फतेहपुर सीकरी से भाजपा के सांसद चौधरी बाबूलाल और आगरा उत्तर सीट से विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने एससी-एसटी एक्ट में फिर से संशोधन किए जाने की मांग उठाई है। सांसद ने तो यहां तक कहा है कि सवर्णों की नाराजगी से भाजपा को नुकसान होगा। 

भाजपा सांसद ने कहा कि एससी-एसटी एक्ट में संशोधन होना चाहिए। संशोधन भी ऐसा हो कि जिससे जनता का उत्पीड़न रुके। एसएसी-एसटी के फर्जी मामले बंद हों। ऐसे प्रावधान हों कि फर्जी मुकदमा लगाने वाले को आर्थिक और सजा के रूप में दंडित किया जाएगा। 

उन्होंने कहा कि बिना जांच के गिरफ्तारी न हो। बंद से यह तय हो गया है कि सवर्णों के आक्रोश से भाजपा को नुकसान हो सकता है। हम भी यह बात प्रधानमंत्री के समक्ष रखेंगे। वहीं भाजपा विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने कहा कि सवर्णों में आक्रोश है। सरकार को दोनों पक्षों के विषय में सोचना होगा।

‘एक्ट का दुरुपयोग रुके’

उन्होंने कहा कि एससी-एसटी का फर्जी मुकदमा दर्ज कराने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए, जो व्यक्ति फर्जी मुकदमा दर्ज कराए, उसके खिलाफ और जो पुलिस अधिकारी मुकदमा लिखे। उसके खिलाफ भी 10 वर्ष की कैद और 10 लाख का जुर्माना होना चाहिए।

राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष डॉ. रामशंकर कठेरिया का कहना है कि मेरी तो केवल यही अपील है कि एससी-एसटी एक्ट का दुरुपयोग नहीं होना चाहिए। यदि कहीं हो रहा है तो वह तत्काल रुकना चाहिए। इसके आगे में मुझे कुछ नहीं कहना है। 
 
भाजपा के महानगर अध्यक्ष विजय शिवहरे ने कहा कि देश में लोकतंत्र है। हर किसी को अपनी बात अपने तरीके से रखने का अधिकार है। इसके तहत लोगों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखे हैं। रही बात एक्ट की तो सरकार इसमें कोई न कोई कदम उठाएगी।

भाजपा जिलाध्यक्ष श्याम भदौरिया का कहना है कि लोकतंत्र में किसी बात का विरोध और समर्थन करने का सबको अधिकार है। जिले में सवर्णों ने बंद का आह्वान किया था। जिले की वस्तुस्थिति से प्रदेश नेतृत्व को अवगत करा दिया है।

You Might Also Like