महागठबंधन ‘डगरा के तीन बैंगन’, बेचैनी में लिया गया फैसला गलत होता है – जेडीयू

महागठबंधन ‘डगरा के तीन बैंगन’, बेचैनी में लिया गया फैसला गलत होता है – जेडीयू

सोमवार को पेट्रोल और डीजल की कीमतों में वृद्धि को लेकर विपक्ष का भारत बंद था. कांग्रेस द्वारा बुलाए गए इस बंद को 20 पार्टियों का सर्मथन हासिल था. आज जेडीयू ने भारत बंद को लेकर महागठबंधन पर जमकर निशाना साधा. जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने भारत बंद के दौरान एकजुटता नहीं रहने पर कहा कि बेचैनी में लिया गया फैसला गलत होता है. 

साथ ही उन्होंने कहा कि अंतर्विरोध के कारण भारत बंद के दौरान गांधी मैदान में महागठबंधन के नेता जमा नहीं हुए. ये सभी डगरा के तीन बैंगन हैं. आरजेडी और बीजेपी की मंगलवार को होने वाली बैठकों पर भी नीरज कुमार ने बात की और कहा कि चुनाव में अब अधिक समय नहीं रह गया है लिहाजा सभी दल अपना काम कर रहे हैं. बीजेपी की बैठक के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि बैठक में लोकसभा चुनाव और सरकार की योजनाओं पर चर्चा होगी.

वहीं आरजेडी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि आरजेडी की बैठक में परिवार पर चर्चा होगी. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि जेडीयू की बैठक भी जल्द होगी. आपको बता दें कि आज तेजस्वी यादव ने आरजेडी की बैठक बुलाई है जिसमें तीन एजेंडों पर मुख्य रूप से चर्चा की जाएगी. बैठक में 2019 लोकसभा चुनाव की तैयारियां, आर्थिक रूप से गरीब सवर्णों को आरक्षण देने की मांग, एससी/एसटी एक्ट जैसे मुख्य मुद्दे शामिल हैं. 

 नीरज कुमार ने प्रशांत किशोर के एक्टिव राजनीति में आने पर भी कहा कि प्रशांत किशोर चुनावी प्रबंधन के जानकार हैं. देश के अंदर कोई कहीं से भी चुनाव लड़ सकता है. यही लोकतंत्र पहचान है. आपको बता दें कि ऐसे अनुमान लगाए जा रहे हैं कि वह बिहार में नीतीश कुमार की पार्टी जदयू से जुड़कर 2019 में चुनावी मैदान में उतर सकते हैं. 

ऐसा इसलिए भी कहा जा रहा है क्‍योंकि 2015 के विधानसभा चुनावों से पहले वह नीतीश कुमार के साथ जुड़े थे और लालू प्रसाद यादव के साथ जदयू के महागठबंधन बनाने में उनकी अहम भूमिका मानी जाती है

You Might Also Like