प्रशांत किशोर के JDU में शामिल होने पर RJD बोली- जमीन कमजोर हो तो कोई नहीं काम आता

प्रशांत किशोर के JDU में शामिल होने पर RJD बोली- जमीन कमजोर हो तो कोई नहीं काम आता

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) में शामिल करवाया तो विपक्ष ने जेडीयू-बीजेपी पर इसको लेकर निशाने साधने शुरू कर दिए हैं. आरजेडी ने प्रशांत किशोर के जेडीयू में शामिल होने को लेकर कहा कि अब एनडीए को नीतीश कुमार और नरेंद्र मोदी के चेहरे पर भरोषा नहीं रहा लिहाज़ा वे प्रशांत किशोर जैसे बाहरी खिलाड़ी को आगे ला रहे हैं. वहीं, जेडीयू-बीजेपी ने आरजेडी को पिछले दिनों की याद दिलाते हुए पलटवार किया और कहा कि उनके रणनीति में ही 81 सीट जीतने में सफल हुए.

चुनावी रणनीति बनाते-बनाते प्रशांत किशोर खुद सक्रिय राजनीत में उतर गए और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उन्हें खुद पार्टी में शामिल कराये. पिछले विधानसभा चुनाव में प्रशांत किशोर ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए रणनीति बनाए थे.

‘बिहार में बहार है, नीतीशे कुमार है’ जैसे नारे बनाने वाले प्रशातं किशोर ने नीतीश कुमार की जीत में अपनी भूमिका निभाई थी. बदले हुए राजनीतिक परिस्थिति में अब आरजेडी प्रशांत किशोर के जेडीयू में शामिल होने को लेकर निशाना साध रही है.

जेडीयू का कहना है कि प्रशांत किशोर के आने से पार्टी और संगठन मजबूत हुआ है और पार्टी को चुनाव प्रचार रणनीति में भी इसका फायदा मिलेगा. प्रशांत किशोर मूलतः चुनावी रणनीतिकार हैं. वहीं, विपक्ष का कहना है कि यदि जमीन कमजोर हो तो कोई रणनीतिकार काम नहीं आता, जेडीयू के लिए कोई करिश्मा नहीं कर पाएंगे प्रशांत किशोर.

You Might Also Like