देश

PM मोदी ने 38 दिन बाद कोरोना वैक्सीन की दूसरी खुराक ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को दिल्ली के एम्स में कोविड-19 टीके की दूसरी खुराक ली और कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में टीका लेने के लिए पात्र सभी लोगों से जल्द से जल्द टीका लगवाने की अपील की। प्रधानमंत्री ने एक मार्च को टीके की पहली खुराक ली थी।

Loading...

उन्होंने ट्वीट किया, ‘आज एम्स में कोविड-19 टीके की दूसरी खुराक ली। वायरस को हराने के कुछ तरीकों में टीकाकरण भी एक तरीका है। अगर आप टीका लेने के पात्र हैं तो जल्द से जल्द टीका लगवाए। कोविन डॉट जीओवी डॉट इन पर पंजीकरण कराएं।’

प्रधानमंत्री ने टीका लगवाते हुए अपनी एक तस्वीर भी पोस्ट की। प्रधानमंत्री मोदी ने भारत बायोटेक द्वारा निर्मित स्वदेशी कोवैक्सीन का टीका लगवाया है। पीएम मोदी को जिन दो नर्सों ने टीका लगाया वे पुडुचेरी की पी निवेदा और पंजाब से निशा शर्मा हैं। निवेदा एक मार्च को उन्हें टीका लगाने वालों में भी शामिल थीं।

सिस्टर निशा शर्मा ने कहा, ‘मैंने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोरोना वैक्सीन की दूसरी खुराक दी। उन्होंने हमसे बात की। मेरे लिए यह एक यादगार पल था क्योंकि मुझे उनसे मिलने का मौका मिला।’

वहीं, सिस्टर पी. निवेदा ने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी को कोरोना की पहली दूसरी डोज दी गई। आज मुझे उनसे मिलने और दूसरी बार टीका लगाने का एक और अवसर मिला। मैं फिर से उत्साहित हो गई। उन्होंने हमसे बात की और हमने उनके साथ तस्वीरें भी लीं।’

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक एक मार्च को ली थी। एम्स में पुडुचेरी की सिस्टर पी निवेदा ने पीएम मोदी को भारत बायोटेक की ‘कोवैक्सीन’ की पहली डोज दी थी। पहली डोज लेने के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट कर जानकारी दी थी मैंने एम्स में कोरोना की पहली डोज ले ली है।

यह वाकई प्रशंसनीय है कि डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने कोरोना के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को मजबूत करने के लिए कम समय में बेहतर काम किए हैं। लोगों से अपील है कि जो इसके पात्र हैं वह वैक्सीन जरूर लगवाएं और भारत को कोरोना मुक्त बनाएं।

कोरोना को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सभी राज्यों के मुख्यमंत्री से बैठक करने जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि पीएम मोदी बैठक के बाद कुछ एलान भी कर सकते हैं। बता दें कि वैक्सीनेशन को लेकर महाराष्ट्र सरकार ने केंद्र पर पर्याप्त मात्रा में टीके नहीं भेजने का आरोप लगाया है।

महाराष्ट्र के स्वास्थ मंत्री राजेश टोपे ने बुधवार को बताया कि उनके राज्य में सिर्फ तीन दिन का वैक्सीन स्टाक बचा है। वैक्सीन नहीं होने के चलते टीकाकेंद्रों से लोगों को वापस भेजा जा रहा है। राजेश टोपे के बयान पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने पलटवार करते हुए कहा कि किसी भी राज्य में वैक्सीन की कमी नहीं है। जरूरत के हिसाब से सभी राज्यों में वैक्सीन पहुंचाई जा रही है।

Loading...
loading...
Tags

Related Articles

Live TV
Close