विदेश

नवाज शरीफ का इलाज संभव नही हो पा रहा है इसलिए जा सकते हैं अमेरिका.

इम्‍यून सि‍स्‍टम डिसऑर्डर (Immune System Disorder) की वजह से नवाज शरीफ का प्‍लेटलेट काउंट (Platelet Count) काफी कम है। सूत्रों की माने तो इसके लिए लंदन में इलाज उपलब्‍ध नहीं है और शरीफ को अमेरिका जाना होगा। उनका कहना है कि लंदन में हुए मेडिकल टेस्‍ट से पता चलता है कि शरीफ के ब्रेन में रक्‍त संचार नहीं हो पा रहा है और इसलिए प्‍लेटलेट काउंट कम होता जा रहा है। इसके लिए आवश्‍यक सर्जरी केवल बोस्‍टन में उपलब्‍ध है।

Loading...
27 अक्‍टूबर को उन्‍हें 8 हफ्ते के लिए रिहा किया है। बाद में लाहौर हाई कोर्ट ने सरकार को निर्देश दिया कि एक्जिट कंट्रोल लिस्‍ट से उनका नाम चार हफ्ते के लिए हटा दिया जाए ताकि वे देश से बाहर अपना इलाज करा सकें। बता दें कि देश से बाहर इलाज के लिए कई मेडिकल बोर्ड ने सलाह दी थी।
वहीं देश के विज्ञान व तकनीक मंत्री फवाद चौधरी व रेल मंत्री शेख रशीद ने नवाज शरीफ की बीमारी पर सवाल उठाया। फवाद चौधरी ने कहा कि बीमारी के बहाने वे पाकिस्‍तान से बाहर निकल गए। वहीं, शेख रशीद ने कहा कि नवाज शरीफ अपने साथ विशेष विमान में 82 बक्से लेकर गए हैं, अब शायद ही पाकिस्‍तान वापस आए।
Loading...
loading...
Tags

Related Articles

Live TV
Close