Main Slideट्रेंडिगबड़ी खबरमध्य प्रदेशस्वास्थ्य

हरियाणा में 90 करोड़ का धान घोटाला,सबसे ज्यादा खामियां सीएम सीटी करनाल जिलें में मिली

90 करोड़ का हरियाणा में कथित धान घोटाला आया सामने इस बारे में जानकारी देते हुए खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पी के दास ने बताया की 1304 मीलों की जांच के दौरान धान के स्टॉक में 42 हजार 590 मैट्रीक टन धान की कमी मिली है. सबसे ज्यादा खामियां सीएम सीटी करनाल जिलें में मिली है आपको बता दें कि प्रदेश में धान खरीद को लेकर और फिर मिलर्स द्वारा सरकार को वापस लौटाए गए चावल को लेकर लगातार घोटाले की बात जोर शोर से उठ रही है. अब साफ हो गया है की प्रदेश में लगभग 90 करोड़ रूपये का घोटाला सामने आया है.

Loading...

धान की मूल कीमत के अलावा इसे मंडी से लेकर मिल तक पहुंचाने का खर्चा, आढ़तियों का कमीशन और मार्केट फीस के अलावा ब्याज की भी रिकवरी होगी. ब्याज की रिकवरी भी धान का स्टॉक मिल में पहुंचने के दिन से लेकर रिकवरी वाले दिन तक होगी.

अब सरकार ही उठाएगी ये कदमअभी तक मंडियों से मिलों तक धान लेकर जाने का जिम्मा मिल मालिकों का होता था, लेकिन अब सरकार खुद ही मंडियों से मिलों तक धान की पहुंच सुनिश्चित करेगी. खाद्य एवं आपूॢत विभाग तथा खरीद एजेंसियां कुल खरीदे गए धान का रिकॉर्ड भी अपने पास रखेंगी. सरकारी कांटों पर धान की तुलाई होगी. सरकार खुद ही ट्रक हॉयर कर मंडियों से धान लोड कराएगी और धान को मिलिंग के लिए चावल मिलों तक पहुंचाएगी.

Loading...
loading...
Tags

Related Articles

Live TV
Close