Main Slideउत्तर प्रदेशप्रदेशबड़ी खबरविदेश

वुहान से लोगों को निकालने में भारत ने अपने पड़ोसी देश की मदद की

चीन में फैले खतरनाक करॉना वायरस से भारतीयों को बचाने के लिए सरकार अभियान चला रही है। आज एयर इंडिया का दूसरा विमान 323 भारतीयों को लेकर दिल्ली पहुंचा। भारत न केवल अपने नागरिकों की मदद कर रहा है बल्कि पड़ोसियों की मदद के लिए भी आगे आ रहा है।

Loading...

इस विमान में मालदीव के भी सात नागरिक सवार थे। इसस मदद के लिए मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने पीएम मोदी और विदेश मंत्री जयशंकर का शुक्रिया अदा किया है।

अबुदुल्ला ने कहा कि वुहान सिटी से आने वाले नागरिक कुछ दिन दिल्ली में ही रहेंगे और उनकी देखभाल की जाएगी। भारत में करॉना वायरस के दो मामलों की पुष्टि हुई है। दोनों मरीजों का आइसोलेटेड वॉर्ड में इलाज चल रहा है। इसके अलावा विदेश खासकर चीन से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है। वुहान से आने वाले भारतीयों की देखभाल का इंतजमा भारतीय सेना और आईटीबीपी ने किया है।

हरियाणा के मानेसर में भी लोगों के रखने का इंतजाम किया गया हैएक तरफ भारत अपने साथ-साथ पड़ोसी देश के नागरिकों को भी वुहान से निकालने में मदद कर रहा है वहीं पाकिस्तान ने कह दिया है कि वह अपने नागरिकों को चीन से नहीं बुलाएगा। इस बीच पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने एक ऐसा तर्क दिया है जिसे सुन आप चौंक जाएंगे। दरअसल, उन्होंने एक ट्वीट में कहा है कि अगर कहीं कोई जानलेवा बीमारी फैली है तो वहां से भागना नहीं चाहिए बल्कि वहां फंसे लोगों की मदद करनी चाहिए।

वुहान ही वह जगह है जहां से करॉना वायरस फैला और इसने अब तक 304 से ज्यादा लोगों की जान ले ली है। 10,000 से ज्यादा अन्य संक्रमित हैं और वायरस 17 देशों में फैल चुका है। फिलीपीन्स में एक शख्स की इसी खतरनाक वायरस की वजह से मौत हो गई। चीन के बाहर इस मामले में यह पहली मौत है।

Loading...
loading...
Tags

Related Articles

Live TV
Close