LIVE TVMain Slideदेशविदेशस्वास्थ्य

प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना के मामले बढ़ते देख लगाए प्रतिबंध

इंग्लैंड में कोरोना वायरस से हालात तेजी से बिगड़ते दिख रहे हैं. संक्रमण की दर धीमी पड़ने के बाद फिर इसमें तेजी आ रही है. प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इस परिस्थिति को ‘खतरनाक मोड़’ बताते हुए नए प्रतिबंधों का ऐलान किया है. इंग्लैंड में ये प्रतिबंध अगले 6 महीने के लिए होंगे जब तक कि परिस्थितियां सामान्य होती नहीं दिखतीं.

Loading...

कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिन प्रतिबंधों का ऐलान हुआ है उनमें दफ्तर आदि बाहरी इलाके में काम न करते हुए घर से काम (वर्क फ्रॉम होम) को तरजीह दी गई है. बार और रेस्त्रां को हर हाल में रात 10 बजे तक बंद कर देना है और उनकी सेवा टेबल सर्विस तक ही सीमित रहेगी.

कोरोना: भारत में सीबीएसई ने सिलेबस घटाया, इस देश ने साल के अंत तक स्कूलों  को किया बंद - BBC Hindi

रिटेल स्टाफ से लेकर टैक्सी और प्राइवेट हायर व्हीकल्स के स्टाफ को फेस मास्क लगाना अनिवार्य होगा. रेस्त्रां में भी मास्क को अनिवार्य बनाया गया है, केवल खाते वक्त इसे उतार सकते हैं. 28 सितंबर के बाद से इंग्लैंड की किसी शादी में 15 से ज्यादा मेहमान नहीं जुट सकते.

स्वदेशी वैक्सीन के ह्युमन ट्रायल को अनुमति, सरकार ने कहा 'कोरोना के अंत की  शुरुआत' - BBC Hindi

इंग्लैंड में सोमवार से यह नियम लागू हो गया कि जो लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जाएंगे, वे कानूनी तौर पर क्वारनटीन होने के लिए बाध्य होंगे. ऐसे लोग भी क्वारनटीन होंगे जो किसी कोरोना मरीज के संपर्क में आए हैं. इतना ही नहीं, अगर कोई शख्स सेल्फ-क्वारनटीन होने से मना करता है तो उस पर 10 हजार पाउंट का जुर्माना हो सकता है.

Coronavirus: कोरोना वायरस से अमेरिका में इटली से भी ज्यादा मौतें, मरने  वालों की संख्या 19,833 पर पहुंची - Jansatta

सेल्फ-क्वारनटीन के नियमों के मुताबिक, पॉजिटिव व्यक्ति अगले 10 दिन तक अपना घर नहीं छोड़ सकता. यहां तक कि उसे जरूरी सामान की खरीदारी के लिए भी बाहर नहीं जाना है. ये सख्त प्रतिबंध इसलिए लगाए गए हैं क्योंकि एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि इग्लैंड में लोग धड़ेल्ले से कोरोना के कायदों का उल्लंघन कर रहे हैं.

स्वदेशी वैक्सीन के ह्युमन ट्रायल को अनुमति, सरकार ने कहा 'कोरोना के अंत की  शुरुआत' - BBC Hindi

इंग्लैंड में कोरोना के नियम सख्त बने रहें, इसके लिए पुलिस प्रशासन को भी निर्देश दे दिया गया है. जरूरत पड़ने पर सेना को भी लगाए जाने की बात है. पिछले हफ्ते इंग्लैंड के चीफ साइंटिफिक एडवाइजर सर पैट्रिक वेलेंसी और चीफ मेडिकल मेडिकल ऑफिसर क्रिस विट्टी ने एक टेलीविजन संदेश में देश को चेताया था कि अगर फौरी कदम नहीं उठाए गए तो इंग्लैंड में मध्य अक्टूबर तक हर दिन कोविड के 50 हजार केस सामने आएंगे.

लंदन में बार और रेस्त्रां के बाहर जमे लोग (AP)

वेलेंसी ने कहा, अभी हर 7वें दिन पर कोरोना की रफ्तार दोगुनी (डबलिंग रेट) हो रही है. अगर हर सातवें दिन यही हालत रही तो मध्य अक्टूबर तक हर दिन 50 हजार नए केस आने लगेंगे. अभी की जो ट्रेंड है, अगर यही स्थिति बनी रही तो नवंबर से देश में हर दिन 200 से ज्यादा लोगों की मौत हो सकती है. लंदन में इस हफ्ते कोरोना के 2865 नए मामले थे जिसमें पिछले दो हफ्ते के मरीज शामिल हैं.

Loading...
loading...
Tags

Related Articles

Live TV
Close