LIVE TVMain Slideउत्तराखंडदेशधर्म/अध्यात्म

आज लगभग 3:00 बजे के बाद से बंद कर दिए जाएंगे बद्रीनाथ धाम के कपाट

बद्रीनाथ धाम के कपाट गुरुवार दोपहर 3.35 बजे के बाद से बंद कर दिए जाएंगे. प्रत्येक साल सर्दी के मौसम में बर्फबारी आदि को देखते हुए कपाट बंद कर दिए जाते हैं. गुरुवार को बाबा बद्रीनाथ का निर्वाण दर्शन होगा. आज यहां सिर्फ फूलों का शृंगार किया जाएगा. बद्रीनाथ धाम के कपाट गुरुवार सुबह 5:30 बजे खोले गए हैं. 10:30 बजे यहां राजभोग लगा.

Loading...

उसके बाद 12:30 बजे संध्याकालीन पूजा शुरू होगी. इसके बाद दोपहर एक बजे लक्ष्मी पूजन और आरती होगी. दोपहर 1:30 बजे से कपाट बंद होने की प्रक्रिया शुरू होगी. इस साल अब तक एक लाख 38 हजार श्रदालु बाबा बद्रीनाथ के दर्शन कर चुके हैं.

बद्रीनाथ धाम के खुलने एवं बंद होने का दिन

रविवार को पूजा-अर्चना के बाद गणेश जी के कपाट बंद होने के साथ बद्रीनाथ धाम के कपाट बंद होने की प्रक्रिया शुरू हो गई है. 16 नवंबर को आदिकेदारेश्वर मंदिर के कपाट बंद हुए. 17 को खड़ग पुस्तक की पूजा के साथ वेद ऋचाओं का वाचन बंद किया गया. 18 नवंबर को महालक्ष्मी पूजा हुई. अब 19 नवंबर को धार्मिक रस्मों के साथ शाम 3:35 बजे पर भगवान बद्री विशाल के कपाट शीतकाल के लिए बंद किए जाएंगे.

बर्फबारी के बीच केदारनाथ धाम के कपाट शीतकाल के लिए हुए बंद udaydinmaan

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत रविवार रात केदारनाथ धाम के कपाट बंद होने से पहले आयोजित समारोह में शामिल हुए थे. दोनों मुख्यमंत्रियों ने केदारनाथ धाम के कपाट बंद होने से पहले मंदिर में पूजा अर्चना की थी.

Loading...
loading...
Tags

Related Articles

Live TV
Close