Main Slideखेलदेशबड़ी खबर

शोएब अख्तर का खुलासा, पेस बढ़ाने के लिए मुझे ड्रग्स लेने के लिए कहा गया था :-

क्रिकेट जगत के सबसे तेज गेंदबाजों में से एक शोएब अख्तर अपनी पेस के लिए जाने जाते हैं. पाकिस्तान के महान क्रिकेटरों में से एक अख्तर आज भी इंटरनेशनल क्रिकेट सबसे तेज डिलीवरी का रिकॉर्ड अपने नाम रखते हैं. उन्होंने अपनी पेस और घातक गेंदबाजी से दुनिया के बेस्ट बल्लेबाजों को परेशान किया हुआ था. अख्तर का क्रिकेटिंग कई तरह के विवादों से घिरा रहा, लेकिन ड्रग या किसी भी प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन को लेकर उनके करियर पर कोई दाग नहीं लगा, लेकिन हाल ही में उन्होंने ड्रग्स को लेकर एक खुलासा किया है |
शोएब अख्तर ने खुलासा किया कि उन्हें पेस बढ़ाने के लिए ड्रग्स का इस्तेमाल करने के लिए कहा था, लेकिन उन्होंने इससे इंकार कर दिया था. पूर्व पाकिस्तानी पेसर ने बिना नाम लिए यह दावा किया कि एक वर्ल्ड क्लास पाकिस्तानी क्रिकेटर का करियर ड्रग्स की वजह से बर्बाद हो गया था |

Loading...

Shoaib Akhtar reveals PCB has been approached for chief selector post to  replace Misbah ul Haq

कपिल देव ने चुनी अपनी प्लेइंग 11, बोले- धोनी की जगह कोई नहीं छू सकता

शोएब अख्तर ने एंटी नारकोटिक्स फोर्स की वार्षिक ड्रग बर्निंग सेरेमनी में कहा, ”जब मैंने क्रिकेट खेलना शुरू किया था, तब मैं बहुत तेज गेंद नहीं करवा सकता था. तब मुझे बोला गया था कि 100 किलोमीटर प्रतिघंटा की अच्छी स्पीड को हासिल करने के लिए मुझे ड्रग्स लेना होगा. लेकिन मैंने यह लेने से इंकार कर दिया था.” उन्होंने आगे कहा, ”इसी तरह पाकिस्तानी पेसर मोहम्मद आमिर को इंग्लैंड दौरे से पहले भी आगाह किया गया था, लेकिन वह बुरी संगत में फंस गए थे.”18 साल की उम्र में 2009 टी-20 वर्ल्ड कप में डेब्यू करने वाले मोहम्मद आमिर पर मैच फिक्सिंग मामले में पांच साल का बैन लगा था. मोहम्मद आसिफ और सलमाम बट्ट के साथ उनपर इंटरनेशनल क्रिकेट में पांच साल का बेन लगा था और साथ ही इंग्लैंड में जेल की सजा भी हुई थी. हालांकि, मोहम्मद आमिर पाकिस्तान के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी करने में कामयाब रहे, लेकिन आसिफ और बट्ट का करियर खत्म हो गया |

लंका प्रीमियर लीग के लिए रवाना नहीं हुए शाहिद अफरीदी, आयोजकों की बढ़ी परेशानी

बता दें कि 2010 के पाकिस्तान के इंग्लैंड दौरे पर स्पॉट फिक्सिंग की खबरें आईं और इसमें मोहम्मद आमिर का भी नाम आया था. आमिर पर उस वक्त बैन लगा, जिस उम्र में तेज गेंदबाज के बाद सबसे ज्यादा मौके रहते हैं. लेकिन इसके बाद 2016 में आमिर ने एक बार फिर से पाकिस्तान टीम में वापसी की. कड़ी मेहनत से उन्होंने पुराने फॉर्म को पा लिया और विश्व के प्रमुख गेंदबाजों में अपनी जगह बना ली |

Loading...
loading...
Tags

Related Articles

Live TV
Close