दिल्ली एनसीआरप्रदेश

दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे का तोहफा देंगे पीएम मोदी, मात्र एक घंटे में दिल्‍ली से मेरठ का सफर होगा तय

दिल्ली-यूपी समेत देश के कई राज्यों के लाखों लोगों को मार्च महीने में बड़ा तोहफा मिल सकता है। दरअसल, मार्च में दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे का काम पूरा जाएगा। इसके बाद दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश का सफर और भी आसान हो जाएगा। यहां बता दें कि दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे पर 31 जनवरी तक काम पूरा होना था, लेकिन काम में देरी के चलते केंद्रीय सड़क एवं परिवहन राजमार्ग मंत्रालय के निर्देश पर निर्माण कंपनियों को फिर से अतिरिक्त समय दिया गया है। नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआइ) ने प्रोजेक्ट को पूरा करने की समय सीमा बढ़ाने के साथ कंपनियों को इसे पूरा करने का निर्देश भी दिया है। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन कर सकते हैं।

Loading...

5 मार्च तक हर हाल में पूरा करना होगा काम

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे केंद्र में सत्तासीन नरेंद्र मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजनाओं में से एक है। इसे पिछले साल ही पूरा होना था, लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण के चलते इसका काम उस गति से नहीं हो पाया, जिसकी उम्मीद की जा रही थी। ऐसे में एनएचआइ ने निर्माण कंपनियों साफ-साफ कहा है कि उन्हें हर हाल में 5 मार्च तक दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे का काम पूरा करके देना है।

होली से पहले मिलेगा आम जनता को तोहफा

मिली जानकारी के मुताबिक, निर्माण कंपनियां लगातार मांग कर रही थीं कि उन्हें दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे पर बाकी बचा निर्माण कार्य 31 मार्च तक पूरा करने का मौका मिले। वहीं  संबंधित मंत्रालय ने साफ-साफ कहा गया है कि होली से पहले दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे आम जनता के लिए खोला जाना है। ऐसे में उन्हें 5 मार्च तक एक्सप्रेस-वे तैयार करके देना होगा। इस पर कंपनियां भी सहमत हैं और इस बाबत काम तेजी से जारी है।

यह भी जानें

  • दूसरे चरण में यूपी गेट से डासना के बीच 19 किलोमीटर का 14 लेन का एक्सप्रेस-वे तैयार हो रहा है।
  • 19 किलोमीटर एक्सप्रेस-वे के मद्देनजर 14 लेन के लिए आरओबी भी निर्माणाधीन हैं।
  • डासना से मेरठ के बीच 32 किलोमीटर का 6 लेन का ग्रीन एक्सप्रेसवे तैयार हो रहा है।
  • डासना से ईपीई (ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे) तक 700 मीटर की एलिवेटेड रोड तैयार हो रही है।
  • परतापुर लूप और आरओबी का काम अंतिम चरम में है।

मुदित गर्ग (प्रोजेक्ट डायरेक्टर, एनएचएआइ) का कहना है कि निर्माणाधीन कार्यों में देरी के चलते समय सीमा बढ़ाई गई है। कंपनियों को निर्देशित किया कि वो अतिरिक्त संसाधन लगाकर अब हर हाल में समय पर काम पूरा करें। मार्च में होली से पहले इसका उद्घाटन होना है।

Loading...
loading...
Tags

Related Articles

Live TV
Close