दिल्ली एनसीआरप्रदेश

गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में बड़ी गड़बड़ी का दावा करने वाले योगेश ने बदला अपना बयान

चार किसान नेताओं की हत्या की साजिश के साथ-साथ आगामी 26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में बड़ी गड़बड़ी करने का दावा करने वाला युवक योगेश चंद घंटों बाद ही अपने बयान से पलट गया है। शनिवार सुबह इंटरनेट मीडिया पर वायरल एक वीडियो में योगेश ने दावा किया है कि उसने यह बयान किसान नेताओं के दबाव में दिया है। इस युवक का नाम योगेश है और इसकी उम्र लगभग 19 साल बताई जा रही है। हालांकि, योगेश ने शुक्रवार को पत्रकार वार्ता के दौरान पहले अपनी उम्र 24 बताई फिर 21। यह भी पता चला है कि योगेश हरियाणा के सोनीपत का रहने वाला है। सोनीपत पुलिस योगेश से लगातार पूछताछ कर रही है और योगेश के दावों के सत्यापन में जुटी हुई है। इसके लिए पुलिस की टीमों को गठन किया गया है। एक पुलिस दिल्ली में तो दूसरी उत्तराखंड रवाना की गई है। वहीं अब आरोपी युवक का भी एक वीडियो सामने आया है, जिसमें युवक कह रहा है कि किसानों के दबाव में ही उसने पत्रकारों से बातचीत की थी। योगेश खुद को 9 क्लास फेल बता रहा है और फिलहाल सोनीपत डीएसपी हंसराज के नेतृत्व में पुलिस पूछताछ कर रही है। योगेश का कहना है कि उसे किसानों ने कैंप में ले जाकर मारा। फिर रात को शराब पिलाकर कहा कि हम जो बोलेंगे वही बोलना पड़ेगा।

Loading...

योगेश ने किसानों पर लगाए ये गंभीर आरोप

योगेश ने इंटरनेट मीडिया में वायरल वीडियों में दावा किया है कि किसानों ने 19 जनवरी को उसे पकड़ा और कई बार मारपीट की। इस दौरान शराब भी पिलाई। योगेश का कहना है कि लड़की से छेड़खानी का आरोप लगाकर उसे डराया गया और फिर उसकी किसानों ने टेंट में ले जाकर रातभर पिटाई की। इस दौरान किसानों ने योगेश पर दबाव बनाते हुए कहा वह जैसे कहेंगे, वैसा करना होगा, वरना पिटाई होगी। योगेश ने दावा किया है कि किसान नेताओं ने उसे शराब पिलाई फिर कपड़े उतारकर मारा गया। इस दौरान बात नहीं मानने पर किसान नेताओं ने जान से मारने की धमकी भी दी।

सोनीपत के न्यू जीवन नगर का रहने वाला है योगेश

अब तक की पुलिस जांच में पता चला है कि हरियाणा के कुंडली बॉर्डर से शुक्रवार को पकड़ा गया युवक सोनीपत के ही न्यू जीवन नगर का रहने वाला है। युवक से अपराध जांच शाखा की टीम लगातार पूछताछ कर रही है। वहीं, युवक ने शुक्रवार रात को पत्रकार वार्ता के दौरान 4 किसानों की हत्या की साजिश से लेकर राई थाना के एसएचओ प्रदीप का नाम लिया था। किसानों का आरोप था कि कुछ युवक उनके आंदोलन को बदनाम करने के साथ ही चार किसान नेताओं की हत्या कराने की साजिश रच रहे हैं।

युवक ने भी कहा था कि उनके करीब 50-60 साथी हैं, जिसमें से दस साथी राठधना गांव से है। उनमें से कुछ युवक किसानों में मिलकर पुलिस पर फायरिंग करेंगे। जिससे हंगामा हो सके। साथ ही उसने कहा था कि राई थाना प्रभारी प्रदीप कुमार ने उन्हें ऐसा करने की ट्रेनिंग दी थी।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, गिरफ्तार युवक योगेश के मोबाइल फोन में किसान नेताओं के फोटो मिले हैं जिनके नाम हैं- बलबीर सिंह रजेवाल, बलदेव सिंह सिरसा कुलदीप संधू और जगजीत सिंह बताए जा रहे हैं।

Loading...
loading...
Tags

Related Articles

Live TV
Close