LIVE TVMain Slideउत्तर प्रदेशदेशसाहित्य

उत्तर प्रदेश : आज से कक्षा एक से पांचवी तक के प्राइमरी स्कूल खोले

कोरोना महामारी की वजह से प्राइमरी स्कूल भी बंद कर दिए गए थे. एक साल बंद रहने के बाद उत्तर प्रदेश में 1 मार्च यानी आज से कक्षा एक से पांचवी तक के प्राइमरी स्कूल खोले जा रहे हैं. हालांकि सरकार द्वारा जारी निर्देशों के मुताबिक स्कूलों को कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन करना अनिवार्य है.

Loading...

गौरतलब है कि पिछले साल 13 मार्च 2020 को कोरोना महामारी की वजह से सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया था. वहीं अब चरणबद्ध तरीके से स्कूलों को खोला जा रहा है. पहले कक्षा नौ से 12 तक के स्कूल खोले गए थे.

उसके बाद कक्षा 6 से आठ तक के स्कूल खोले गए. अब तीसरे चरण में आज से प्राइमरी स्कूल भी खोल दिए गए हैं. एक साल बाद खुल रहे स्कूलों को काफी सजाया गया है.

शिक्षकों को निर्देश दिए गए है कि स्कूलों में उत्सव जैसा माहौल हो ताकि बच्चे असहज महसूस न करें. प्राइमरी स्कूलों में कोरोना को लेकर काफी सावधानी बरतने के लिए कहा गया है, क्योंकि कोविड के मामलों में थोड़ी कमी जरूर आई है लेकिन संकट अभी भी बरकरार है.

स्कूलों को निर्देश दिए गए हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग का खास ख्याल रखा जाए. जिन स्कूलों में बच्चों की संख्या ज्यादा है वहां दो पालियों में क्लास संचालित करने के निर्देश दिए गए हैं.

साथ ही स्कूल के कभी क्लासरूम, टॉयलेट, दरवाजे आदि सैनिटाइज करने जरूरी है. स्कूल खोलने के लिए सरकार ने क्या गाइडलाइंस जारी की हैं आइए जानते हैं.

स्कूल में थर्मामीटर, सेनेटाइजर, साबुन की व्यवस्था होगी
स्कूल बस या वैन को सैनिटाइज किया जाएगा
प्रिंसिपल की तरफ से स्थानीय स्तर पर उपलब्ध विभाग के चिकित्सीय स्टाफ से समन्वय स्थापित करने के लिए मेडिकल सपोर्ट होना चाहिए.
छात्र कम से कम 6 फीट की दूरी के साथ बैठेंगे. अगर स्कूल में एक सीट का बेंच या डेस्क है तो इसे भी 6 फीट की दूरी पर रखा जाएगा
स्टाफ रूम या कार्यालय में भी 6 फीट की दूरी पर बैठने की व्यवस्था होगी
स्कूल के सभी गेट को आने-जाने के लिए खुला रखना होगा जिससे भीड़ इकट्ठा ना हो
स्कूल के कमरे, नोटिस बोर्ड, दीवार पर सामाजिक दूरी, मास्क लगाने, सेनेटाइजेशन, साफ-सफाई थूकने से प्रतिबंध के पोस्टर लगाने होंगे
पानी पीने की जगह, टॉयलेट के बाहर जमीन पर 6 फीट की दूरी का घेरा बनाया जाएगा
सभी स्कूलों में कैंटीन बंद होंगी, बच्चों को मिड डे मील दिया जाएगा

बता दें कि स्कूल खुलने पर 100 दिन का विशेष अभियान भी संचालित किया जाना है. 13 मार्च को प्रेरणा ज्ञानोत्सव समारोह आयोजित किया जाएगा. इस समारोह में जनप्रतिनिधियों, सांसदों, विधायकों आदि को चीफ गेस्ट के तौर पर आमंत्रित किया जाएगा.

साथ ही स्कूलों के प्रिंसिपल्स, टीचर्स, और पैरेंट्स व कुछ स्टूडेंट्स को भी बुलाया जाएगा. समारोह में सीएम व बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री का वीडियो संदेश सुनाया जाएगा. साथ ही गायन-नाटिका व क्विज का भी आयोजन होगा.

Loading...
loading...
Tags

Related Articles

Live TV
Close