Main Slideदिल्ली एनसीआर

दिल्ली: नाइट कर्फ्यू से लाखों लोगों की बढीं समस्या, व्यापारियों ने जताया विरोध

नई दिल्ली, दिल्ली में नाइट कर्फ्यू को लगे चार दिन बीच चुके हैं, लेकिन इसकी वजह से पैदा हुई मुसीबतें लाखों लोगों का संकट बढ़ा रही हैं। कामकाजी लोगों के साथ नाइट कर्फ्यू का दिल्ली के व्यापारियों ने भी विरोध किया है। व्यापार में नुकसान का हवाला देते हुए व्यापारी रात्रि कर्फ्यू के बजाय दिन में कोरोना वायरस रोकने के लिए नियमों का सख्ती से पालन कराने की मांग की है। इस संबंध कनॉट प्लेस, करोल बाग, चांदनी चौक, लाजपत नगर, ग्रीन पार्क और जनपथ जैसी प्रमुख मार्केट एसोसिएशन के साथ लोकल शा¨पग कांप्लेक्स के व्यापारियों ने बैठक कर उपराज्यपाल अनिल बैजल से इसमें हस्तक्षेप की मांग की है।

Loading...

व्यापारियों की मांग है कि उपराज्यपाल इस संबंध में सभी व्यापारियों की बैठक बुलाएं। व्यापारियों का कहना है कि रात्रि कर्फ्यू का फैसला सही नहीं है। इससे उनके ग्राहकों पर सीधा असर पड़ रहा है। इससे बिक्री कम हो रही है, जबकि कोरोना के मामलों में कोई कमी नहीं हो रही है। बाजारों में दिन में कोरोना के दिशा-निर्देशों के उल्लंघन की बड़ी वजह रेहड़ी पटरी हैं। यह लोग न तो मास्क का उपयोग कर रहे हैं और न ही शारीरिक दूरी का नियम मान रहे हैं, इसलिए रेहड़ी पटरी प्रतिबंधित क्षेत्र से तुरंत इनको हटाया जाना चाहिए।

रात्रि कर्फ्यू के दौरान होने वाली जांच में आधे घंटे फंसी रही एंबुलेंस

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए रात्रि 10 से सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू लगाया गया है। इससे पुलिस जांच के दौरान राजधानी के प्रमुख मार्गों पर जाम की समस्या भी देखी जा रही है। ऐसे ही एक जाम में दक्षिण जिले में हयात होटल के पास एंबुलेंस करीब आधा घंटे तक फंसी रही। रात्रि कर्फ्यू के दौरान दिल्ली पुलिस के अधिकारी और कर्मी जगह-जगह पर पिकेट लगाकर वाहनों की जांच करते हैं। इस दौरान उचित कारण बताए जाने पर ही पुलिसकर्मी वाहनों को निकलने की अनुमति देते हैं। इससे वाहनों की लंबी कतारें लग जाती हैं। बृहस्पतिवार रात करीब 10:30 बजे हयात होटल के पास भीकाजी कामा फ्लाईओवर पर पुलिस जांच के चलते लंबा जाम लग गया। जाम लगने से सेंट्रलाइज्ड एक्सीडेंट एंड ट्रामा सर्विस (कैट्स) एंबुलेंस रास्ते में फंसी रही। एंबुलेंस के पीछे चल रहे बाइक सवार ने बताया कि जाम की वजह से आधा घंटे तक एंबुलेंस फंसी रही। हालांकि, चालक ने इस बारे में कुछ भी बोलने से इन्कार कर दिया। कैट्स एंबुलेंस का इस्तेमाल दुर्घटनाग्रस्त हुए मरीजों को जल्द से जल्द अस्पताल ले जाने के लिए किया जाता है।

Loading...
loading...
Tags

Related Articles

Live TV
Close