दिल्ली एनसीआरप्रदेश

मज़ा हडकंप: डेढ़ साल बाद सूटकेस में मिला अगवा बच्चे का कंकाल, सामने आया हैरान करने वाला मामला

दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में अपहरण और हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां पर थाना क्षेत्र के गरिमा गार्डन से डेढ़ साल पहले अगवा हुए मासूम का कंकाल एक दिन पहले (3 जून को) एक लकड़ी के संदूक में मिला। उसकी हत्या कर शव संदूक में डालकर पड़ोसी की छत पर रखे कबाड़ में रखा गया था। इस बीच मासूम के लापता होने की जानकारी मिलने पर दो लोगों ने अपहरण करने की बात कहकर परिजनों से आठ लाख की फिरौती भी मांगी थी।

Loading...

पुलिस ने दोनों को जेल भेज दिया था। मूलरूप से बुलंदशहर के गुलावठी थाना क्षेत्र स्थित महमदाबाद गांव के रहने वाले नजर मोहम्मद परिवार के साथ गरिमा गार्डन स्थित शमशाद गार्डन में रहते हैं। वह घर के पास ही सैलून की दुकान चलाते हैं। एक दिसंबर 2016 को उनका चार वर्षीय बेटा मोहम्मद जैद लापता हो गया था।

दोपहर में पड़ोसी मोबीन की छत पर कबाड़ के बीच एक लकड़ी के संदूक में जैद का कंकाल मिला। वहां पर खेल रहे बच्चों की गेंद संदूक के पास चली गई थी। जब बच्चे गेंद लेने गए तो उन्होंने संदूक में कंकाल देखा। परिजनों ने जैद के कपड़े से उसकी पहचान की और पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है।

दो लोगों ने मांगी थी आठ लाख की फिरौती

जैद के लापता होने पर पिता नजर मोहम्मद ने साहिबाबाद थाने में अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। 12 दिसंबर को उनसे फोन पर जैद का अपहरण करने की बात कहकर आठ लाख की फिरौती मांगी गई थी। 1 पुलिस ने 17 दिसंबर 2016 को फिरौती मांगने वाले दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन बच्चे को बरामद नहीं कर सकी थी।

आरोपितों की पहचान आजमगढ़ निवासी आफताब और बागपत निवासी इरफान के रूप में हुई थी। दोनों ने पुलिस को बताया था कि उन्हें रुपयों की जरूरत थी। उन्होंने स्टेशन पर पर्चा चस्पा देखा तो उन्होंने फिरौती मांगने की साजिश रची थी। दोनों आरोपितों ने कई बार फिरौती के लिए फोन किया था।

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close