प्रदेशमध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश: भाजपा नेता संजीव मालानी व ड्राइवर के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज

पुराना घुना हुआ चना बेचने के प्रयास में भाजपा नेता संजीव मालानी पर धोखाधड़ी का केस पुलिस ने दर्ज कर लिया है। भाजपा नेता पर मामला दर्ज होते ही संगठन में हड़कंप मच गया है। वहीं जनसंपर्क विभाग ने टीवी पर चल रहे उन्नत किसान के उस विज्ञापन भी तत्काल प्रभाव से रोक दिया है जिसमें आरोपित भाजपा नेता संजीव मालानी उन्नत खेती की जानकारी दे रहा है।

Loading...

मामले को लेकर भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रणवीर सिंह रावत ने कहा कि व्यक्ति कोई भी यदि गलत काम करता है तो कानून अपना काम करेगा और हम अपने मोर्चा के जिलाध्यक्ष से पूरे मामले की जानकारी भी लेंगे।

क्या है पूरा मामला- शुक्रवार को मंडी में दोपहर 3 बजे तक नेफेड का सर्वेयर हरीश दीक्षित नहीं आए जिसके कारण चने की तुलाई पूरी तरह बंद थी। सर्वेयर के आने के बाद जानकारी लगी कि गलत चना खरीदने के लिए भाजपा नेता संजीव मालानी सर्वेयर पर दबाव बना रहे थे। इस कारण वो मंडी ही नहीं आ रहा था । मौके पर किसानों के हंगामे के बाद नायब तहसीलदार संतोष मंडलोई पहुंचे और सर्वेयर हरीश दीक्षित को फोन कर मंडी बुलवाया। लेकिन हरीश दीक्षित ने वहां नायब तहसीलदार से कहा कि मैं किसी भी स्थिति में पुराना और घुना चना नहीं पास करूंगा ।

दो दिन पहले ही रिजेक्ट कर दिया था चना

सर्वेयर ने बताया कि मालानी का यह चना मंडी में दो दिन पहले ही रिजेक्ट कर दिया गया है, लेकिन उसके बाद भी वो चना उठाकर नहीं ले जा रहे हैं और दबाव बना रहे हैं कि हमारा चना नहीं खरीदोगे तो भी हम यह चना पास करवा लेंगे । नायब तहसीलदार संतोष मंडलोई ने मंडी सचिव को चने की जब्ती की कार्रवाई करने के आदेश दिए गए। जब्ती की कार्रवाई के बाद राजू पटैल (संजीव मालानी का ड्राइवर ) ने कहा कि चना मेरा है । जिसके बाद नायब तहसीलदार ने 115 क्विंटल 20 किलो चने की जब्ती राजू पटैल के नाम से बना दी।

जांच में आया था संजीव मालानी का नाम

तीन घंटे चली जांच में राजू पटैल ने चने का वास्तविक मालिक संजीव मालानी को बताया । तहसील कार्यालय से संजीव मालानी को अपने कथन दर्ज कराने के लिए बुलाया गया । लेकिन संजीव मालानी उपस्थित नहीं हुआ । नेफेड के सर्वेयर के बयान दर्ज कराए गए। उससे स्पष्ट है कि अमानक चना को मानक किए जाने के लिए उससे सम्पर्क किया गया और दबाव बनाया गया। राजू पटैल ने तहसील में बयान दिया कि वह संजीव मालानी का चना लेकर मंडी गया था। जब तहसीलदार गीताजंली शर्मा ने पूछा कि तुम चना जब्त होने के बाद बनखेड़ी तहसील क्यों नहीं आए । तो राजू पटैल ने कहा कि वो अपने सेठ संजीव मालानी के साथ अनुविभागीय अधिकारी से मिलने पिपरिया गया था ।

मामला दर्ज कर लिया है

संजीव मालानी और राजू पटैल पर मामला दर्ज कर लिया गया है । तहसीलदार की जांच के बाद समिति प्रबंधक की रिपोर्ट पर मामला दर्ज किया गया है । उच्चाधिकारियों के निर्देश पर कार्रवाई की जाएगी ।

– पंकज वाडेकर, टीआई बनखेड़ी

किसानों के हितों का ध्यान

किसानों के हितों को शोषित करने वाले को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा । चाहे वो संगठन का कितना भी बड़ा नेता हो । इस मामले को संगठन गंभीरता से ले रहा है । भाजपा किसान हितों को ध्यान में रखकर नीति बनाती है । इस तरह यदि कोई जालसाजी का काम करता है तो उस पर कार्रवाई जरूर होगी।।

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close