Main Slideउत्तर प्रदेश

अब ‘वन डिस्ट्रिक्ट-वन प्रोडक्ट’ समिट कराएगी सरकार

इन्वेस्टर्स समिट के बाद सरकार सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उत्पादों की ब्रांडिंग, वित्त पोषण और ओपन मार्केट उपलब्ध कराने के लिए वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट की अलग से समिट कराने की तैयारी कर रही है। समिट में सभी 75 जिलों के चयनित उत्पादों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी। इससे जुड़ी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं।

Loading...
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वन डिस्ट्रिक्ट-वन उत्पाद (ओडीओपी) योजना का एलान किया था। प्रत्येक जिले की पहचान से जुड़े एक-एक उत्पाद को इसके अंतर्गत चिह्नित किया जा चुका है। अब इन उत्पादों से जुड़े उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए वित्तीय प्रबंध, मार्केटिंग-ब्रांडिंग और राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उत्पाद की पहुंच सुनिश्चित कराने की पहल की जाएगी। इसी क्रम में ओडीओपी पर केंद्रित एक दिनी समिट कराने का फैसला हुआ है।

इसके लिए शासन के अफसरों की एमएसएमई से जुड़े उद्यमियों व आईआईए, सीआईआई व लघु उद्योग भारती जैसे संगठनों से बातचीत शुरू हो गई है। इस समिट में मुख्यमंत्री के साथ केंद्र व प्रदेश सरकार के मंत्री व अधिकारी, निर्यात परिषद के पदाधिकारी, विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञ, वित्तीय संस्थाओं के वरिष्ठ अधिकारी, शिल्पी व उद्यमी शामिल होंगे।

अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त डॉ. अनूपचंद्र पांडेय ने बताया कि समिट जून-जुलाई में कराने की योजना है। जल्द ही इसकी तिथि फाइनल कर ली जाएगी। समिट में सभी 75 जिलों के चयनित उत्पाद प्रदर्शित किए जाएंगे। समिट इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में ही होगी।

समिट के फोकस सेक्टर: हैंडीक्राफ्ट/हैंडलूम/ टेक्सटाइल, एग्रो, फूड प्रोसेसिंग

निर्यातक सम्मेलन, मुद्रा लोन वितरण शिविर का भी प्रस्ताव

सरकार ने ओडीओपी समिट में तीन विषयों पर सेमिनार कराने की योजना बनाई है। एग्रो और फूड प्रोसेसिंग, हैंडलूम व सिल्क तथा क्राफ्ट व टूरिज्म पर केंद्रित सेमिनार होंगे। यहां मार्केटिंग, ब्रांडिंग, पैकेजिंग व डिजाइन तथा जीआई टैगिंग के बारे में जानकारी दी जाएगी। निर्यातकों का सम्मेलन भी होगा, जिसमें सरकार के प्रतिनिधियों के सामने निर्यातक और एक्सपर्ट अपनी बात रखेंगे।
Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close